Ahmedabad News : रात्रि बंद के कारण सब्जियों की मांग कम, किसानों को नुकसान

सब्जियों के भाव गिरने से चरोतर के किसान मुश्किल में

By: Binod Pandey

Published: 11 Apr 2021, 11:36 PM IST

आणंद. रात्रि कफ्र्यू के कारण चरोतर के किसानों की मुश्किल बढ़ गई है। सब्जियों की मांग कम होने से भाव में 70 फीसदी की कमी ने उनकी कमर ही तोड़ दी है। किसान भारी नुकसान झेलने को विवश हुए हैं। आणंद जिले के किसान होटल-रेस्टोरेंट में इस्तेमाल होने वाला शिमला मिर्च, तीखी मिर्च, बैंगन, फ्लावर आदि कई प्रकार की सब्जियों की खेती करते हैं। करीब सात से आठ हजार किसानों की आजीविका सब्जियों की खेती से ही जुड़ी है। रात्रि कफ्र्यू के कारण शाम से लेकर देर रात तक चलने वाली हाइवे और होटल-रेस्टोरेंट समेत लारी-ठेले का खुलना प्रतिबंधित हो गया है। इसके कारण यहां इस्तेमाल होने वाली सब्जियों की मांग बंद हो गई है। इसके अलावा आंणद की विभिन्न प्रकार की सब्जियों की आपूर्ति अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत समेत मुंबई तक की जाती थी।


खानकुवा के किसान जगदीशभाई पटेल ने बताया कि मिर्च का भाव 300 रुपए का 20 किलो था, लेकिन अभी इसका भाव 80 रुपए पर पहुंच गया है। मिर्च लेने को तैयार नहीं हो रहा है। इसके अलावा कैबिज, बैंगन आदि सब्जियों के भाव में गिरावट के कारण किसान अब इसे बेचने के बजाय फेंकने को विवश हो गए हैं।

आणंद में सब्जियों की बुवाई (हेक्टेयर में)
आणंद के किसान आणंद में 1634 हेक्टेयर, आंकलाव में 2572, बोरसद में 3212, खंभात में 0263, पेटलाद में 0540, सोजित्रा में 0545, तारापुर में 0196, उमरेठ में 1245 हेक्टेयर सब्जियों की बुवाई करते हैं।

Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned