Gujarat Hindi News : थमने के बाद फिर जमके बरसा बदरा, सौराष्ट्र पर बादलों का जमघट

  • अमरेली क्षेत्र में 4, गोंडल के पाटखीलोरी में दो घंटे में 5 इंच बारिश
  • भावनगर, उना, गिरगढडा, विंछिया में हल्की से लेकर मूसलाधार बरसात
  • गारियाधार, सावरकुंडला में ठंडक नदी के बहाव से गांव में पानी घुसा
  • कमढिया, देरडी गांवों में 3 से 4 इंच बारिश दर्ज

By: Binod Pandey

Published: 21 Aug 2021, 07:57 AM IST

राजकोट. राजकोट समेत समस्त सौराष्ट्र में मानसून की आवाजाही लगी हुई है। आते-जाते बारिश से किसानों के मुरझाए चेहरे खिल उठते हैं। पिछले कुछ समय से थमी बरसात अचानक गुरुवार शाम से फिर से प्रकट हो गई। इससे किसान जो अब निराश होने लगे थे, उनकी खुशी फिर से लौट आई है। किसानों ने खेतों में बुवाई की थी, लेकिन बारिश के कारण उनकी फसल को नुकसान होना तय था, लेकिन बारिश ने एक बार फिर से उनकी उम्मीदों को बचाए रखा है।
अमरेली के पूरे क्षेत्र को बारिश ने जमकर भिगोया है। गुरुवार शाम से लेकर शुक्रवार सुबह तक दो से साढ़े चार इंच बारिश दर्ज की गई। इसके अलावा अमरेली जिले के सावरकुंडला, चितल, बाबरा, ओलिया समेत ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश दर्ज की गई है।

भावनगर के उना, गिरगढडा, जसदण के विंछिया में लंबे विराम के बाद बारिश के आगमन से किसानों में खुशी छा गई। अमरेली में सवा चार इंच, लिलिया में साढ़े चार इंच बारिश होने से मुरझा रहे खेतों में रोनक लौट आई। खेत हरे हो गए। अमरेली शहर में शाम से शुरु हुई बारिश रात्रि 10 बजे तक होती रही। करीब साढ़े चार इंच बारिश होने से शहर की सड़कों पर पानी भर गया। वहीं निचले क्षेत्रों में जल-जमाव से लोगों को आवाजाही में मुश्किल का सामना करना पड़ा। नियंत्रण कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार अमरेली में 108 एमएम, लिलिया में 114 एमएम, राजुला में 30 एमएम, बाबरा में 21 एमएम, लाठी में 10 एमएम, सावरकुंडला में 9 एमएम, वडिया में 9 एमएम, बगसरा में 7 एमएम, जाफराबाद में 5 एमएम बारिश दर्ज की गई।

ग्रामीण क्षेत्रों में झमाझम होने से ख्रेतों में मुरझा रही फसले फिर से लहलहा उठी। पिछले एक महीने से बारिश नहीं होने से यहां खेतों में रोपी फसल मूंगफली, कपास, तिल, मूंग, उड़द आदि खरीफ फसल सूखने के कगार पर थीं। अधिकांश किसानों ने सिंचाई के वैकल्पिक माध्यमों की तलाश करते हुए फसलों को बचाने की कवायद शुरू की थी। लेकिन, इसी बीच बारिश होने से उन्हें राहत मिली है। इसके अलावा बाबरा शहर समेत तहसील के चमारडी, जाम बरवाला, गलकोटडी, खाखरिया, दरेड, चरखा, वावडी समेत ग्रामीण क्षेत्रों में बारिश हुई।
चितल के आसपास के गांव मोणपुर, धराई, वावडी, बलेल पिपरिया, छोटा आंकडिया, टींबा, शेडूभार, माचियाला समेत अन्य क्षेत्रों में बारिश होने से फसलों की जान में जान लौट आई।

भावनगर के गारियाधार में डेढ इंच, महुवा में पौने एक इंच, तलाजा में आधा इंच बारिश हुई। गोहिलवाड क्षेत्र में पिछले दो दिनों से बरसाती माहौल बना हुआ है। पिछले 24 घंटे में गारियाधार में 36 एमएम, महुवा में 19 एमएम, तलाजा में 10 एमएम, जेसर में 6 एमएम और पालिताणा में 4 एमएम बारिश दर्ज की गई है।

Show More
Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned