scriptAhmedabad News | Gujarat Hindi News : सिंचाई के लिए बाद में, पहले पीने के लिए पानी को प्राथमिकता: रूपाला | Patrika News

Gujarat Hindi News : सिंचाई के लिए बाद में, पहले पीने के लिए पानी को प्राथमिकता: रूपाला

  • सरधार में केन्द्रीय मंत्री ने कहा, दूध में मिलावट करने वालों की खैर नहीं

अहमदाबाद

Published: August 22, 2021 08:56:07 am

राजकोट. केन्द्रीय पशुपालन, मत्स्योद्योग व डेयरी मंत्री परषोत्तम रूपाला ने कहा कि मानसून के बीच बारिश नहीं होने की स्थिति में पहले पीने के लिए पानी की आपूर्ति को प्राथमिकता दी जाएगी। दूसरी प्राथमिकता के तहत सिंचाई के पानी आपूर्ति की जाएगी।
Gujarat Hindi News :  सिंचाई के लिए बाद में, पहले पीने के लिए पानी को प्राथमिकता: रूपाला
Gujarat Hindi News : सिंचाई के लिए बाद में, पहले पीने के लिए पानी को प्राथमिकता: रूपाला
राजकोट के सरधार में मीडिया के साथ बातचीत में कहा कि चालू वर्ष में अभी तक बारिश मेें अंतराल होने के चलते पहले पीने के लिए पानी जमा रखा गया है। बाद में जरूरत के मुताबिक किसानों को सिंचाई के लिए दिया जाएगा।
दूध में मिलावट के अवैध धंधे करने वालों पर चेतावनी देते हुए उन्होंने कहा कि ऐसा काम करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा। उनके खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सरकारी तंत्र सघन जांच करेगा जिससे ऐसे तत्वों पर निगरानी रखी जा सके। उन्होंने आम जनता से अपील की कि वे ऐसे लोगों के खिलाफ प्रशासन को सूचना दे जिससे उन पर कार्रवाई की जा सके। उन्होंने कहा कि ऐसे मिलावट करने वालों के कारण अमूल जैसे दूध संघ बदनाम नहीं हो, यह ध्यान रखना जरूरी है।
केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री थे, तब नर्मदा बांध के लिए उन्होंने उपवास किया था। गुजरात समेत चार राज्यों को इसका फायदा मिला था। लोक भागीदारी से चेक डेम समेत जल स्रोतों को बढाने से उद्योगों को भी फायदा हुआ था। नर्मदा का पानी सर्वप्रथम प्रधानमंत्री के कारण साबरमती में छोड़ा गया था। उन्होंने पाइप लाइन समेत अन्य योजनाओं को बनाया जिससे पीने और सिंचाई के पानी की व्यवस्था हुई थी।
देश भर में पीने के पानी के लिए संकलित योजना

उन्होंने कहा कि पीने के पानी के लिए समग्र देश में संकलित आयोजन के लिए ही जलशक्ति मंत्रालय बनाया गया है। दो वर्ष में तीन करोड़ लोगों के घर तक नल पहुंचाया गया है। उन्होंने कहा कि गांव में किसानों और सरपंचों को सरकार ने मजबूत किया है। उन्हें पहले से अधिक अधिकार दिया गया है। किसानों और मत्स्यपालकों के खाते में राशि सीधे जमा होने संबंधी योजना को मंजूरी दी गई है।
कोरोना के कठिन दौर में बेहतर समन्वय से हुआ काम

केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि कोरोना के कठिन दौर में लोगों को सुरक्षित रखने के लिए राज्य और केन्द्र सरकार ने काम किया। कोरोना की शुरुआत में महज एक लेबोरेटरी थी, लेकिन अब दो हजार से अधिक लैब बना दिए गए हैं। पीपीई किट भी आज जितनी जरूरत होगी, उतनी बनाई जा सकती है। दूसरे देशों को आपूर्ति भी की जा सकती है।
उन्होंने कहा कि राज्य में चार करोड़ से अधिक लोगों को कोरोना का टीका लगाया जा चुका हे। पूरे देश में यह आंकड़ा 55 करोड़ को पार कर गया है।
रूपाला ने कहा कि नरेन्द्र मोदी के मंत्रिमंडल में उन्हें काम करने का अवसर मिला है। इस जन आशीर्वाद यात्रा को हर जगह जनता का बेहतर प्रतिसाद मिला है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.