scriptAhmedabad News | Gujarat Hindi News : बारिश की कमी से सूख रहे हैं हजारों बीघा धान | Patrika News

Gujarat Hindi News : बारिश की कमी से सूख रहे हैं हजारों बीघा धान

कैनालों मेें पानी बंद होने से किसानों की बढ़ी मुश्किल
माइनर कैनाल से खेतों तक नहीं पहुंच रहा पानी

अहमदाबाद

Published: August 22, 2021 09:07:52 am

आणंद. आणंद और खेड़ा जिले में लाखों रुपए से कैनालों की मरम्मत की गई, लेकिन माइनर कैनाल की सफाई ठीक से नहीं गई। इसके चलते कैनालों में गंदगी और मिट्टी के चलते खेतों तक पानी नहीं पहुंच रहा। ऐसे में किसानों की मुश्किल बढ़ जाती है। हाल में मही सिंचाई की ओर से कैनालों में 6500 क्यूसेक पानी छोड़ा गया, लेकिन मातर और तारापुर के अंतिम छोर के गांव तक माइनर कैनाल में झाड़ी, मिट्टी और गंदगी के कारण पानी नहीं पहुंचा। मानसून में 40 फीसदी बारिश कम होने से खेतों में धान समेत अन्य फसलों पर पहले से संकट छाया हुआ है। खेतों में फसलों के बचने की आस कैनालों पर थी।
Gujarat Hindi News :  बारिश की कमी से सूख रहे हैं हजारों बीघा धान
Gujarat Hindi News : बारिश की कमी से सूख रहे हैं हजारों बीघा धान

तारापुर तहसील के मोभा और आसपास के गांवों में कैनाल में पानी नहीं पहुंचने से 10 हजार हेक्टेयर से अधिक धान की फसल के नुकसान होने की आशंका पैदा हो गई है। मोभा गांव की 17 -एल माइनर कैनाल से अभी तक पानी भी नहीं छोड़ा गया। किसानों का आरोप है कि प्रकृति के साथ-साथ प्रशासन भी भाल क्षेत्र के साथ अन्याय कर रहा है। मातर तहसील के लिंबासी, भलाड समेत अन्य क्षेत्रों में माइनर कैनाल में पर्याप्त पानी नहीं छोडऩे के कारण धान के खेतों तक पानी नहीं पहुंचने की शिकायत की गई है।

कडाणा-वणाकबोरी डेम से 6500 क्यूसेक पानी छोडऩे के बावजूद अंतिम छोर के गांवों तक नहीं पहुंचा। इस क्षेत्र के कनेवाल-परिएज तालाब से सौराष्ट्र तक पानी पहुंचाया जाता है। वहीं उत्तर गुजरात में नर्मदा का पानी सिंचाई पहुंचाया जाता है। वणांकबोरी डेम का पानी जिन जगहों पर नहीं पहुंचता है, वहां नर्मदा डेम से भाल क्षेत्र में पानी आपूर्ति की मांग की गई है। खंभात तहसील के आखोल गांव के सरपंच कृष्णा मकवाणा और बलवंतसिंह परमार, भूपेन्द्रसिंह राहोल के नेतृत्व में किसानों ने आणंद जिला कलक्टर को ज्ञापन सौंपा है। इसके जरिए खरीफ सीजन से पहले इस क्षेत्र में नर्मदा डेम के कमांड क्षेत्र से सिंचाई के लिए पानी छोडऩे की मंाग की गई है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

कोरोना: शनिवार रात्री से शुरू हुआ 30 घंटे का जन अनुशासन कफ्र्यूशाहरुख खान को अपना बेटा मानने वाले दिलीप कुमार की 6800 करोड़ की संपत्ति पर अब इस शख्स का हैं अधिकारजब 57 की उम्र में सनी देओल ने मचाई सनसनी, 38 साल छोटी एक्ट्रेस के साथ किए थे बोल्ड सीनMaruti Alto हुई टॉप 5 की लिस्ट से बाहर! इस कार पर देश ने दिखाया भरोसा, कम कीमत में देती है 32Km का माइलेज़UP School News: छुट्टियाँ खत्म यूपी में 17 जनवरी से खुलेंगे स्कूल! मैनेजमेंट बच्चों को स्कूल आने के लिए नहीं कर सकता बाध्यअब वायरल फ्लू का रूप लेने लगा कोरोना, रिकवरी के दिन भी घटेCM गहलोत ने लापरवाही करने वालों को चेताया, ओमिक्रॉन को हल्के में नहीं लें2022 का पहला ग्रहण 4 राशि वालों की जिंदगी में लाएगा बड़े बदलाव
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.