Gujarat Hindi News : वडोदरा दुष्कर्म मामले में फरार आरोपी को पालीताणा से पकड़ा

अशोक जैन धोलेरा में छिपा था। इसके बाद वह पालीताणा के जैन तीर्थ धर्मशाला में जाकर रहने लगा था। अहमदाबाद में रहने वाले परिवारिक सदस्य से उसकी बातचीत फोन के माध्यम से जारी थी। पुलिस ने अहमदाबाद में भतीजे से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अशोक जैन के पालीताणा में होने की जानकारी दी।

By: Binod Pandey

Published: 08 Oct 2021, 12:47 PM IST

वडोदरा. वडोदरा के हाई प्रोफाइल रेप केस में फरार आरोपी अशोक जैन को क्राइम ब्रांच ने गुरुवार सुबह पालीताणा से गिरफ्तार कर लिया है। इस केस में इससे पूर्व अन्य आरोपी राजू भट्ट को गिरफ्तार कर 3 दिन का रिमांड हासिल किया था। आरोपी भट़्ट को लेकर पुलिस ने रिकस्ट्रक्शन कर अन्य जरूरी जांच शुरू की थी। आरोपी के तीन दिन का रिमांड पूरा होने पर फिर 3 दिन का रिमांड लेकर जांच की गई। अब रिमांड पूरा होने पर पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया जिसमें कोर्ट ने आरोपी भट्ट को न्यायिक हिरासत में भेज दिया।

इस संबंध में विशेष जांच दल (एसआईटी) के चीफ डी एस चौहाण ने बताया कि अशोक जैन धोलेरा में छिपा था। इसके बाद वह पालीताणा के जैन तीर्थ धर्मशाला में जाकर रहने लगा था। अहमदाबाद में रहने वाले परिवारिक सदस्य से उसकी बातचीत फोन के माध्यम से जारी थी। पुलिस ने अहमदाबाद में भतीजे से सख्ती से पूछताछ की तो उसने अशोक जैन के पालीताणा में होने की जानकारी दी। गुुरुवार सुबह अशोक जैन पूजा करने जा रहा था कि इसी बीच पुलिसकर्मियों ने उसे पकड़ लिया।

वडोदरा शहर के चर्चित दुष्कर्म कांड में फरार आरोपी सीए अशोक जैन को पकडऩे के लिए पुलिस ने दो टीम राजस्थान और यूपी में रवाना की थी।दोनों टीम उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही थी। दूसरी ओर आरोपी राजू भट्ट को साथ लेकर पुलिस टीम ने दो बार घटनास्थल पर जाकर पंचनामा कर जानकारी एकत्रित की थी।

जानकारी के अनुसार पीडि़ता ने फ्लैट में लगे एसी के प्लग के पास स्पाइ कैमरा खोज निकाला था। पुलिस कैमरा लगाने वाले का पता कर रही है। मामले में आरोपी राजू भट्ट से कई बार पूछताछ की गई, लेकिन पुलिस के समक्ष वह एक बात की रट लगाता रहा कि उसने कैमरा नहीं लगाया है। अब आरोपी आशोक जैन के गिरफ्त में आने से पुलिस कैमरे समेत अन्य मामलों की जानकारी लेने में जुट गई है।

पूरे मामले में पीडि़ता के मित्र के रूप में बुटलेगर अल्पू सिंधी का नाम सामने आया है। अशोक जैन के वकील ने भी आरोप लगाया है कि अल्पू सिंधी ने पांच व्यक्तियों के नाम की सूची उसे भेजी थी। इसके बाद मयंक और अल्पू सिंधी के बीच हुई बातचीत भी वायरल हुई थी। हाल में अल्पू दो अपराधों में वांछित है, जिससे पुलिस उसकी खोजबीन में जुटी है। घटना के 18 दिन बाद भी अल्पू गिरफ्तार नहीं हो सका है।

Binod Pandey
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned