scriptAhmedabad police, She team, Vastrapur police, Train, jharkhand women | झारखंड की महिला की मदद को आगे आई अहमदाबाद पुलिस, टिकट देकर भेजा घर | Patrika News

झारखंड की महिला की मदद को आगे आई अहमदाबाद पुलिस, टिकट देकर भेजा घर

Ahmedabad police, She team, Vastrapur police, Train, jharkhand women

शी टीम ने समझी समस्या, अच्छी नौकरी की आस में आई थी अहमदाबाद, परिचित न मिलने पर पहुंची थी थाने

 

अहमदाबाद

Published: February 21, 2022 09:54:32 pm

अहमदाबाद. अपनी समस्या को लेकर ज्यादातर लोग आज भी पुलिस थाने की सीढिय़ां चढऩे से हिचकते हैं। सोचते हैं उनकी सुनवाई होगी भी या नहीं। कहीं चक्कर तो नहीं काटने पड़ेंगे। ऐसा सोचने वाले लोगों को अहमदाबाद शहर पुलिस के मददगार चेहरे से अवगत कराने वाली घटना वस्त्रापुर थाने में सामने आई है। यहां के पुलिस कर्मचारियों ने सिर्फ महिला की आपबीती सुनी बल्कि खुद के पैसों से टिकट करवाकर उसे झारखंड भेजा।
दरअसल 20 जनवरी को झारखंड़ के लोहरदगा जिले के गोपीटोली गांव निवासी 47 वर्षीय महिला फिल्ली उर्फ मनीषा नेमीइनभाई कुजुर वस्त्रापुर थाने पहुंची थी। ना तो उसका कोई सामान चोरी हुआ था और ना ही उसके साथ किसी ने कोई अभद्र व्यवहार किया था।
जिस व्यक्ति के जरिए नौकरी की आस में यह अहमदााद आई थी उससे संपर्क नहीं हो पा रहा था। गुजराती भाषा भी वह समझती नहीं थी, जिससे मदद की आस लेकर वह थाने पहुंची।
थाने के पीएसओ व अन्य पुलिस कर्मचारियों ने शी टीम की सब इंस्पेक्टर पी एस रावल से उसकी मुलाकात कराई। रावल ने महिला की आपबीती सुनी। महिला ने बताया कि उसके दो बच्चे हैं। गांव में छोटा-मोटा काम, नर्स का काम कर गुजारा चलाती है। 10वीं पास है। पति का देहांत हो गया है। कोरोनाकाल में समस्या हुई, जिससे एक परिचित के जरिए अच्छी नौकरी की आस में अहमदाबाद आई थी। उस व्यक्ति का संपर्क नहीं हो रहा। इतने पैसे नहीं कि वापस जा सके।
पीएसआई रावल ने बताया कि हमने पहले तो उसके परिचित व्यक्ति का संपर्क कर उससे उसकी मुलाकात कराई। उस व्यक्ति ने महिला को किसी मॉल में या अन्य जगह नौकरी दिलाने का आश्वासन भी दिया। लेकिन 10वीं पास होने से उसे नौकरी 12-15 हजार की ही मिलती। यहां रहने और खाने में ही काफी खर्च हो रहा था, जिससे वह वापस घर जाना चाहती थी। उसके पास टिकट के पैसे नहीं थे तो हम सभी ने उसके टिकट का इंतजाम किया। सह कर्मचारियों की मदद से न सिर्फ टिकट खरीदकर दी बल्कि उसे कालूपुर रेलवे स्टेशन से हावड़ा-अहमदाबाद एक्सप्रेस ट्रेन में सुरक्षित तरीके से बिठाकर झारखंड के लिए रवाना किया।
परदेशी महिला की मदद को आगे आई पुलिस, टिकट खरीद भेजा झारखंड
परदेशी महिला की मदद को आगे आई पुलिस, टिकट खरीद भेजा झारखंड
परदेशी महिला की मदद को आगे आई पुलिस, टिकट खरीद भेजा झारखंड

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Bharat Drone Mahotsav 2022: दिल्ली में ड्रोन फेस्टिवल का उद्घाटन कर बोले मोदी- 2030 तक ड्रोन हब बनेगा भारतपहली बार हिंदी लेखिका को मिला International Booker Prize, एक मां की पाकिस्तान यात्रा पर आधारित है उपन्यासजम्मू कश्मीर: टीवी कलाकार अमरीन भट की हत्या का 24 घंटे में लिया बदला, तीन दिन में सुरक्षा बलों ने मारे 10 आतंकीखिलाड़ियों को भगाकर स्टेडियम में कुत्ता घुमाने वाले IAS अधिकारी का ट्रांसफर, पति लद्दाख तो पत्नी को भेजा अरुणाचलपाकिस्तान में 30 रुपए महंगा हुआ पेट्रोल-डीजल, Pak सरकार को घेरते हुए इमरान खान ने की मोदी की तारीफRenault Kiger: फैमिली के लिए बेस्ट है ये किफायती सब-कॉम्पैक्ट SUV, कम दाम में बेहतर सेफ़्टी और महज 40 पैसे/Km का मेंटनेंस खर्चअजमेर शरीफ दरगाह में मंदिर होने के दावे के बाद बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिस बल तैनातचांदी के गहने-सिक्के की भी हो सकती है हॉलमार्किंग
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.