महिला से बलात्कार का पुलिसकर्मी पर आरोप

महिला से बलात्कार का पुलिसकर्मी पर आरोप

Rajesh Bhatnagar | Publish: Aug, 12 2018 10:49:55 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

प्रेमी की हत्या की आरोपी, पीडि़ता हुई गर्भवती, दो साथियों की मदद से दिया अंजाम : पीडि़ता, इंटरनेशनल प्रिजनर्स जस्टिस डे पर पीडि़ता ने की शिकायत, एसआईटी करेगी जांच

वडोदरा. प्रेमी की हत्या के मामले में महीसागर जिले के संतरामपुर स्थित उप कारागार में सजा भुगत रही एक महिला ने इंटरनेशनल प्रिजनर्स जस्टिस डे पर जिले के अधिकारियों के समक्ष एक पुलिसकर्मी पर पुलिस थाने में बलात्कार की चौंकाने वाली शिकायत शुक्रवार को की। चर्चित मामले में जांच के लिए रेंज के पुलिस महानिरीक्षक के निर्देशन में जिला पुलिस अधीक्षक ने स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम (एसआईटी) का गठन किया है।
सूत्रों के अनुसार इंटरनेशनल प्रिजनर्स जस्टिस डे पर जिला सेशन न्यायालय के न्यायाधीश एच.बी. रावत, जिला कलक्टर विजयसिंह ए. वाघेला, जिला पुलिस अधीक्षक ऊषा राडा महीसागर जिले के संतरामपुर स्थित उप कारागार पहुंचे। वहां महिला कैदी ने अधिकारियों की मौजूदगी में बलात्कार की लिखित शिकायत की। शिकायत पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) की धारा 376 (डी), 323 व 114 के तहत मामला दर्ज किया गया है।
शिकायत के अनुसार स्थानीय अपराध शाखा (एलसीबी) के पुलिसकर्मी मीनेष भुनेतर पर बलात्कार करने व दो साथी पुलिसकर्मियों पर मदद करने का आरोप लगाया गया है। इस शिकायत की जांच के लिए रेंज आई.जी. के निर्देशन में एसआईटी का गठन किया गया है। इामें एक उपाधीक्षक, एक पुलिस निरीक्षक, एक महिला उप निरीक्षक को शामिल किया गया है।
लिखित शिकायत मेंयूं लगाया आरोप
महिला की ओर से की गई लिखित शिकायत के अनुसार उसे पिछली 29 मई को पुलिसकर्मी पुलिस थाने पर ले गए। वहां एक कमरे में उसे पूछताछ के लिए बिठाया। क्षेत्र में गश्त करने वाले पुलिसकर्मी मीनेष को वह पहचानती थीं। उस समय जीआरडी की एक महिला गार्ड भी मौजूद थीं। पूछताछ के बहाने महिला गार्ड को बाहर भेजकर दो साथी पुलिसकर्मियों की मौजूदगी में दरवाजा बंद कर लट्ठ, बेल्ट, पाइप से पिटाई की गई।
करंट लगाने का भी आरोप
शिकायत में आरोप है कि पिटाई के बाद महिला के दोनों हाथ की अंगुलियों को तार से बांधकर करंट लगाया गया। उसके बाद कान पर तार से करंट लगाया गया। पिटाई व करंट के कारण हाथ फुलने पर बाहर से बर्फ लाकर घिसा गया। फिर दो साथी पुलिसकर्मियों की मदद से पाइप व लट्ठ से पिटाई की गई। करीब दो-तीन दिन बाद मीनेष ने दो साथी पुलिसकर्मियों की मदद से बलात्कार किया गया। उसके बाद तीनों जने वहां से चले गए और जीआरडी की महिला गार्ड पुन: वहां लौटी। दो दिन बाद लुणावाडा पुलिस थाने में पिता की मौजूदगी व कबूलात बताकर पिता व काका का नाम दर्ज करवाया गया।
पूर्व में महिला की करवाई थी चिकित्सकीय जांच
महिला के पुलिस रिमांड के बाद पिछली 13 जून, 11 व 13 जुलाई को 9 महिला पुलिसकर्मियों की देखरेख में संतरामपुर के अस्पताल में चिकित्सकीय जांच करवाई गई थी। महिला को पिछली 26 जून को गोधरा के सिविल अस्पताल रेफर किया गया था। पिछली 6 जुलाई से 8 अगस्त के बीच अलग-अलग अधिकारियों ने संतरामपुर उप कारागार का दौरा किया लेकिन महिला ने किसी प्रकार की शिकायत नहीं की।
प्रेमी की हत्या की आरोपी है महिला
संतरामपुर निवासी पे्रमी जिज्ञेश पारगी के साथ महिला का प्रेम संबंध था। इसके बावजूद चार जनों की मदद से खंडेर सरकारी क्वार्टर की तीसरी मंजिल पर प्रेमी जिज्ञेश पर चाकू से वार कर पिछली 28 मई को उसकी हत्या की गई।
उपवासी कैदियों को समझाकर करवाया भोजन
संतरामपुर उप कारागार के जेलर वी.एस. खांट के अनुसार उप कारागार में सजा भुगत रही महिला से बलात्कार का खुलासा होने पर जेल के 80 कैदी भोजन के समय उपवास पर उतर गए। शिकायत मिलने पर उन्होंने कैदियों को समझाकर भोजन के लिए तैयार किया।

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned