विकास के लिए अब सोसाइटी पर नहीं पड़ेगा ज्यादा आर्थिक बोझ

AMC, Ahmedabad city, Society development, Corporator, MLA grant, Standing committee

विधायक या पार्षद के फंड से मिलेगी १० फीसदी धनराशि, ७० फीसदी देती है राज्य सरकार और 1० फीसदी मनपा

 

By: nagendra singh rathore

Published: 29 Jul 2021, 09:08 PM IST

अहमदाबाद. शहर में स्थित सोसाइटियों को अब उनकी सोसायटी में पक्का रास्ता बनाने या अन्य विकास कार्य करवाने के लिए घर-घर जाकर सदस्यों से चंदे के रूप में ज्यादा धनराशि एकत्र नहीं करनी पड़ेगी।

ऐसा इसलिए है क्योंकि अब सोसाइटी पर उसके विकास के लिए पडऩे वाले कुल लागत के २० प्रतिशत खर्च के बोझ में से 10 प्रतिशत बोझ को कम करने का निर्णय किया गया है। स्वर्णिम जयंती मुख्यमंत्री योजना के अन्तर्गत राज्य सरकार सोसाइटियों के विकास के लिए 70 फीसदी धनराशि का सहयोग देती है। इसके अलावा 10 प्रतिशत धनराशि अहमदाबाद महानगर पालिका की ओर से दी जाती है। शेष 10 प्रतिशत धनराशि सोसाइटीवासी उनके इलाके के विधायक की ग्रांट से या फिर अहमदाबाद महानगर पालिका के उनके इलाके के पार्षद (कोर्पोरेटर) की ग्रांट से प्राप्त कर सकते हैं। ऐसे में सोसाइटी के ऊपर सिर्फ 10 प्रतिशत का ही बोझ पड़़ेगा। जो अभी 20 फीसदी पड़ता था।
मनपा की स्थायी समिति के अध्यक्ष हितेश बारोट ने बताया कि शहर की ज्यादा से ज्यादा निजी सोसाइटियों में विकास कार्य हो सकें। सोसाइटियों पर ज्यादा आर्थिक बोझ ना पड़े इसलिए यह प्रस्ताव स्वीकृत किया है। जिसके तहत राज्य सरकार 70 फीसदी, मनपा 10 फीसदी और 10 फीसदी राशि विधायक या फिर कोर्पोरेटर की ग्रांट से प्राप्त की जा सकेगी। जिससे शेष 10 फीसदी राशि ही सोसाइटी अपनी ओर से देगी। अभी तक सोसाइटी को 20 फीसदी धनराशि देनी होती थी।
मनपा की गुरुवार को हुई बैठक स्थायी समिति की बैठक में इस प्रस्ताव को मंजूरी दी गई। इस बारे में संबंधित आधिकारिक प्रक्रिया करने के लिए मनपा आयुक्त को अधिकार सौंपने की मंजूरी दी है।

विकास के लिए अब सोसाइटी पर नहीं पड़ेगा ज्यादा आर्थिक बोझ
nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned