scriptAmrit Sarovar Yojana: 75 ponds to be built in Ahmedabad district | अमृत सरोवर योजना : अहमदाबाद जिले में बनेंगे 75 तालाब | Patrika News

अमृत सरोवर योजना : अहमदाबाद जिले में बनेंगे 75 तालाब

बढ़ेगी 7.50 लाख क्यूबिक मीटर जलसंग्रह की क्षमता

अहमदाबाद

Published: May 27, 2022 09:43:54 pm

अहमदाबाद. Ahmedabad जिले के विविध भागों में आगामी दिनों में 75 तालाबों (सरोवरों) का निर्माण होगा। जिससे 7.50 लाख cubic meter क्यूबिक मीटर जल संग्रह की क्षमता बढ़ेगी। प्रत्येक तालाब कम से कम एक एकड़ भूमि में बनाया जाएगा और उसकी जल संग्रह की क्षमता कम से कम 10 हजार क्यूबिक मीटर होगी।
देश में Amrit Sarovar Yojana Ahmedabad district अमृत महोत्सव के अन्तर्गत अहमदाबाद जिले में भी 75 तालाब बनाने का आयोजन किया गया है। निर्मित होने वाले हरेक तालाब में कम से कम 10 हजारcubic meter क्यूबिक मीटर जल संग्रह होगा। जिससे साढ़े सात लाख क्यूबिक मीटर जल संग्रह की क्षमता बढ़ जाएगी। हाल में जिले के केसरडी, दहेगाम, खानपुर समेत 33 तालाबों का कार्य प्रगति में है। कुछ ही दिनों में 75 सरोवरों का कार्य शुरू किया जाएगा। तालाबों के भरने के बाद न सिर्फ जल संग्रह क्षमता बढ़ेगी बल्कि भूगर्भ जलस्तर भी ऊपर आएगा। तालाब निर्माण की देखरेख के लिए पंचायत प्रतिनिधि और पंचायत के स्थानीय अधिकारी की नियुक्ति की जाएगी। इन तालाबों का भूमिपूजन स्वंत्रता सेनानी, शहीद के परिवार या पद्मश्री सम्मानित व्यक्ति के हाथों किया जाएगा।
अमृत सरोवर योजना : अहमदाबाद जिले में बनेंगे 75 तालाब
अमृत सरोवर योजना : अहमदाबाद जिले में बनेंगे 75 तालाब

तालाबों का निर्माण कार्य अगस्त 2023 में होगा पूर्ण

जिला कलक्टर संदीप सागले ने बताया कि गत 4 अप्रेल को पंचायती राज दिवस के उपलक्ष्य में प्रधानमंत्री नरेन्द्रमोदी ने देश में 50 हजार अमृत सरोवर बनाने का आह्वान किया था। जिसके अन्तर्गत गुजरात राज्य के हरेक जिले में 75 तालाबों का निर्माण होगा। अहमदाबाद जिले में इन तालाबों का निर्माण कार्य अगस्त 2023 तक पूर्ण हो जाएगा।
आधुनिक तकनीक का होगा उपयोग
इस कार्य के साथ जुड़े कार्यपालक इन्जीनियर एम.सी. मकवाणा ने कहा कि आधुनिक तकनीक के उपयोग से बनने वाले हरेक तालाब के आसपास ध्वजवंदन के लिए भी साइट तैयार की जाएगी। ये सभी तालाब लोक भागीदारी से बनाए जाएंगे। योजना के अन्तर्गत तालाब के केचमेंट एरिया में प्लान्टेशन और जलसंचय के कार्य इनलेट, आउटलेट स्ट्रक्चर के विकास तथा सरोवरों के आसपास प्लान्टेशन जैसे बहुआयामी पहलुओं पर भी ध्यान दिया जाएगा। विविध विभागों के संयुक्त तत्वाधान में आधुनिक तकनीकी का उपयोग किया जाएगा।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

धन को आकर्षित करती है कछुआ अंगूठी, लेकिन इस तरह से पहनने की न करें गलतीज्योतिष: बुध का मिथुन राशि में गोचर 3 राशि के लोगों को बनाएगा धनवानपैसा कमाने में माहिर माने जाते हैं इस मूलांक के लोग, तुरंत निकलवा लेते हैं अपना कामजुलाई में चमकेगी इन 7 राशियों की किस्मत, अपार धन मिलने के प्रबल योगडेली ड्राइव के लिए बेस्ट हैं Maruti और Tata की ये सस्ती CNG कारें, कम खर्च में देती हैं 35Km तक का माइलेज़ज्योतिष: रिश्ते संभालने में बड़े कच्चे होते हैं इस राशि के लोगजान लीजिए तुलसी के इस पौधे को घर में लगाने से आती है सुख समृद्धिहाथ में इन निशान का होना मां लक्ष्मी की कृपा प्राप्त होने का माना जाता है संकेत

बड़ी खबरें

Maharashtra Political Crisis: महाराष्ट्र में फिर बनेगी बीजेपी की सरकार, देवेंद्र फडणवीस 1 जुलाई को ले सकते है सीएम पद की शपथUddhav Thackeray Resigns: फ्लोर टेस्ट से पहले उद्धव ठाकरे ने सीएम और MLC पद से दिया इस्तीफा, कहा- मेरी शिवसेना मुझसे कोई नहीं छीन सकताउदयपुर हत्याकांड के तार पाकिस्तान से जुड़े, दावत ए इस्लामी संगठन से सम्पर्क में थे आरोपीGST Council Meeting: बैठक के दूसरे दिन राज्यों को झटका, गेमिंग-कसीनों पर नहीं हो सका फैसलाबिहारः मोबाइल फ्लैश की रोशनी में BA की परीक्षा देते दिखे छात्र, गूगल का भी खूब लिया मदद, उठ रहे सवालMumbai News Live Updates: उद्धव ठाकरे ने राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी को सौंपा इस्तीफाUdaipur Murder: अनुराग ठाकुर बोले- कांग्रेस की आपसी लड़ाई से राजस्थान में ध्वस्त हुई कानून-व्यवस्था, NIA को जांच मिलने से होगी तेज कार्रवाईMaharashtra Gram Panchayat Election 2022: महाराष्ट्र में इस तारिख को होगा ग्राम पंचायत चुनाव, अगले ही दिन आएंगे नतीजे
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.