निजी अस्पतालों में भर्ती... म्यूकोरमाइकोसिस के मरीजों के लिए लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बी इन्जेक्शन की व्यवस्था

राज्य के आठ अस्पतालों में उचित दरों पर मिल सकेंगे इन्जेक्शन

By: Omprakash Sharma

Published: 20 May 2021, 09:49 PM IST

अहमदाबाद. कोरोना महामारी का दंश झेल चुके अनेक मरीज इन दिनों म्यूकोरमाइकोसिस नामक गंभीर फंगस का भी सामना कर रहे हैं। इसके लिए एन्टीफंगल के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बी नामक दवाई की भी इन दिनों भारी कमी है, जिसे ध्यान में रखकर प्रदेश के आठ अस्पतालों में उचित दर पर इन्जेक्शन उपलब्ध करवाए हैं। निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों को इन अस्पतालों से कीमत व पांच फीसदी जीएसटी के साथ दवाई मिल सकेंगी।
राज्य के अहमदाबाद , राजकोट, सूरत, वडोदरा जैसे महानगरों में इन दिनों ब्लैक फंगस के रूप में जाने जाने वाले म्यूकोरमाइकोसिस के मरीज बढ़े है। इनमें से ज्यादातर वे मरीज हैं जो कोरोना के कारण काफी गंभीर स्थिति में पहुंच गए थे और उन्हें लंबे समय तक स्टेरॉयइ जैसी दवाइयां दी गईं थीं। म्यूकोरमाइकोसिस के बढ़ते मरीजों के कारण बाजार में एन्टीफंगल दवाइयों की भारी कमी आ गई थी जिससे निजी अस्पतालों में मरीजों की हालत दयनीय हो रही है। जिसे ध्यान में रखकर राज्य सरकार ने प्रदेश के आठ अस्पतालों में दवाइयां उपलब्ध करवाईं हैं। निजी अस्पतालों में म्यूकोरमाइकोसिस का उपचार ले रहे मरीजों को लिए इन अस्पतालों से उचित रेट पर पांच फीसदी जीएसटी के साथ दवाइयां मिल सकेंगी। हालांकि इस संबंध में मरीजों के दस्तावेज पेश करने होंगे। जिसके आधार पर छह कंपनियों के इन्जेक्शन पांच फीसदी जीएसटी के साथ 4792 रुपए (प्रति इन्जेक्शन) से लेकर 6247 रुपए तक मिल सकेंगें।

मरीज के दस्तावेज देखने के बाद जीएमएससीएल करेगी दवाई की व्यवस्था
निजी अस्पतालों में भर्ती मरीजों के लिए यदि लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बी इन्जेक्शन जरूरी है तो उसके दस्तावेजों के आधार पर व्यवस्था करनी होगी। गुजरात मेडिकल सर्विसिस कॉर्पोरेशन लिमिटेड( जीएमएससीएल) वर्तमान दरों पर अस्पताल को इन्जेक्शन की सप्लाई करेगी और अस्पताल के संबंधित अधिकारी इन्जेक्शन की बिक्री की राशि को जीएमएससीएल तक पहुंचाएंगे।

इन अस्पतालों में मिलेंगे इन्जेक्शन
अहमदाबाद के सरदार वल्लभभाई पटेल (एसवीपी) अस्पताल, सोला सिविल हॉस्पिटल, गांधीनगर स्थित सिविल अस्पताल, भावनागर स्थित सरटी अस्पताल, राजकोट स्थित पीडीयू अस्पताल, जामनगर स्थित जीजी अस्पताल, सूरत स्थित स्मिमेर हॉस्पिटल तथा वडोदरा स्थित एसएसजी अस्पताल में लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बी इन्जेक्शन मिल सकेंगे।

मरीजों के ये दस्तावेज करने होंगे पेश
दाखिल मरीज की केस की प्रतिलिपी के अलावा चिकित्सक का प्रिस्क्रिप्शन, मरीज के आधार कार्ड की कॉपी, म्यूकोरमाइकोसिस की पुष्टि की कॉपी एवं उपचार कर रहे चिकित्सक का सिफारिश पत्र।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned