scriptसमाज के किसी भी वर्ग को ठेस पहुंचाने वाली बयानबाजी नहीं की जानी चाहिए: गहलोत | Ashok Gehlot, Ex CM, Rajasthan, Ahmedabad | Patrika News
अहमदाबाद

समाज के किसी भी वर्ग को ठेस पहुंचाने वाली बयानबाजी नहीं की जानी चाहिए: गहलोत

-केंद्रीय मंत्री परषोत्तम रूपाला के बयान पर गहलोत ने दी प्रतिक्रिया, कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र को बताया हिस्टोरिकल डॉक्युमेंट

अहमदाबादApr 07, 2024 / 10:47 pm

Omprakash Sharma

Ashok Gehlot, Ex CM, Rajasthan, Ahmedabad

समाज के किसी भी वर्ग को ठेस पहुंचाने वाली बयानबाजी नहीं की जानी चाहिए: गहलोत,समाज के किसी भी वर्ग को ठेस पहुंचाने वाली बयानबाजी नहीं की जानी चाहिए: गहलोत

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत ने केंद्रीय मंत्री परषोत्तम रूपाला के विवादित बयान को लेकर कहा कि इतिहास को समझे बिना ऐसी कोई बयानबाजी नहीं की जानी चाहिए, जिससे समाज के किसी वर्ग की भावनाओं को ठेस पहुंचे। जाति एवं धर्म के खिलाफ जब कोई बोलता है, तो दुख होता ही है।
गुजरात दौरे पर रविवार को अहमदाबाद पहुंचे गहलोत ने एयरपोर्ट पर मीडिया के साथ बातचीत के दौरान यह बात कही। उन्होंने कांग्रेस के चुनावी घोषणा पत्र को हिस्टोरिकल डॉक्युमेंट बताया। गहलोत ने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी की यात्रा में मिले लोगों के मंतव्य को भी कांग्रेस ने घोषणा पत्र में शामिल किया है। उनके अनुसार सोशल सिक्युरिटी को भी घोषणा पत्र में प्राथमिकता दी गई है। न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) और मनरेगा जैसी जन उपयोगी योजनाओं को लेकर अहम वादे किए हैं।उन्होंने कहा कि फिलहाल देश का लोकतंत्र खतरे में है। संयुक्त राष्ट्र संघ (यूएन) ने भी देश की स्थिति को लेकर टिप्पणी की है। उन्होंने झारखंड और दिल्ली के मुख्यमंत्री को चुनाव से पूर्व जेल में डालने को लेकर कहा कि चुनाव आयोग भी इस मामले में कुछ नहीं कर रहा है।
उन्होंने चुनावी बॉन्ड को दुनिया का सबसे बड़ा घोटाला बताया। उन्होंने कहा कि आज देश किस दिशा में जा रहा है , इसकी चिंता न सिर्फ राजनेताओं बल्कि नागरिकों को भी करनी चाहिए। उन्होंने उम्मीद जताई कि गुजरात समेत अनेक राज्यों में लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस का प्रदर्शन श्रेष्ठ रहेगा। गहलोत अहमदाबाद में रह रहे मूल राजस्थान के लोगों के बीच लोकसभा चुनाव का प्रचार भी करेंगे।

Hindi News/ Ahmedabad / समाज के किसी भी वर्ग को ठेस पहुंचाने वाली बयानबाजी नहीं की जानी चाहिए: गहलोत

ट्रेंडिंग वीडियो