वैदिक गोमेद चरण पादुका के हैं लाभ

सोशल मीडिया पर ग्रुपों में मिले संदेश से पता लगा

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 29 Dec 2020, 11:09 PM IST

राजेश भटनागर

अहमदाबाद. उत्तराखंड के काशीपुर में पांच वर्ष पहले स्टार्टअप श्री बंशी गो धाम एलएलपी की शुरुआत कर चुके नीरज चौधरी ने कहा कि सोशल मीडिया पर ग्रुपों में मिले संदेश से पता लगा कि लोग 10-15 वर्ष से गोबर पर, गोबर के कंडों (उपलों) पर पैर रखकर 1-2 घंटे प्रतिदिन बैठते हैं तो रक्तचाप नियंत्रित हो गया। ऐसे संदेश मिलने के बाद गोबर से चप्पल (वैदिक गोमेद चरण पादुका) तैयार किए।

उनका दावा है कि यह चप्पल लगातार कुछ ही दिन पहनने पर शरीर में शर्करा, रक्त का संचार सुचारू रहने से उच्च व निम्न रक्तचाप, कोलेस्ट्रोल, हृदय रोग, शरीर में दर्द, मानसिक व शारीरिक थकान दूर होने से मांसपेशियां मजबूत होती हैं और इनमें दर्द नहीं होता, मानसिक रोगों के साथ ही शरीर के ऊर्जा स्तर को सामान्य रखने में भी ये चप्पल मदद करते हैं। इन चप्पल से रीढ़ की हड्डी सीधी और मजबूत रहती है।

गोबर के पैनल से बिजली का शून्य प्रतिशत होता है रेडिएशन

प्रत्येक घर में इलेक्ट्रिसिटी के पैनल से 500-600 प्रतिशत बिजली की रेडिएशन लोगों के शरीर को प्रभावित करती हैं और शरीर के लिए हानिकारक होती हैं। उन पैनल के लिए गोबर के कवर तैयार किए हैं, इनसे रेडिएशन शून्य प्रतिशत होता है।

6-8 डिग्री तक तापमान कम करती हैं गोबर की टाइलें

उन्होंने दावा करते हुए कहा कि गोबर की टाइलें 6 से 8 डिग्री तक तापमान कम करती हैं। ऐसी टाइलें दिल्ली, गुरुग्राम और उत्तर प्रदेश में सप्लाई की जा रही हैं।

15 रुपए प्रति किलो खरीदते हैं गोबर

गाय के बिना भी प्रतिवर्ष 14-16 लाख रुपए का कारोबार करने वाले वाले नीरज ने बताया कि उनके पास गायें नहीं है, वे किसानों से 15 रुपए प्रति किलो के भाव से गोबर खरीद कर लाते हैं। काशीपुर की गोशालाओं व घरों से भी वे गोबर खरीदते हैं। दो दिन तक कारखाने में गोबर को सुखाने के बाद मशीन में पीसकर गोबर के चूर्ण में कुछ विशेष प्रकार के पदार्थ, जड़ी आदि मिलाकर पेस्ट बनाते हैं। इसके बाद वर्तमान में वे 70-80 उत्पाद तैयार कर रहे हैं। वे करीब 20 लोगों को प्रत्यक्ष और 100 लोगों को अप्रत्यक्ष तौर पर रोजगार उपलब्ध करवा रहे हैं।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned