बोगस बिलिंग के जरिए जीएसटी चोरी करनेवाला शिकंजे में

प्रलोभन देकर श्रमिकों के दस्तावेज लेकर बनाई थी फर्जी कम्पनी

By: Pushpendra Rajput

Published: 16 Dec 2020, 08:44 PM IST

गांधीनगर. स्टेट जीएसटी विभाग (GST) ने बोगस बिलिंग (bogus billing) के जरिए करोड़ों की जीएसटी चोरी ( GST theft) करने वाले पर शिकंजा कसा है। यह आरोपी जीरा कमोडिटी (Jeera commodity) में जीएसटी चोरी के आरोप में पहले भी गिरफ्तार हो चुका है। प्रलोभन देकर आरोपी ने श्रमिक व फुटकर मजदूरों से दस्तावेज लेकर फर्जी कम्पनियां बनाई थी। आरोपी ई-वे बिल (e-way bill) जनरेट करता था और माल आपूर्ति (good supply) के बिल जारी करता और जीएसटी भी जमान नहीं करता था।

जीएसटी विभाग अधिकारियों ने हाल ही में ऊंझा में कई इकाइयों पर दबिश दी थी। जांच में सामने आया कि आरोपी फुटकर मजदूर और श्रमिकों को आर्थिक प्रलोभन देकर उनसे दस्तावेज ले लेता था और उनका दुरुपयोग करता था। करचोरी के इस आरोपी तक पहुंचाने के लिए जीएसटी अधिकारियों ने काफी मंथन किया था, जिसमें सामने आया कि आरोपी श्रमिक, फुटकर मजदूर, छोटी -मोटी नौकरी करने वालों को आर्थिक प्रलोभन देते थे और उनसे दस्तावेज लेकर उनका दुरुपयोग कर जीएसटी पंजीकरण कराते और फर्जी कम्पनी चलाते थे। इसके जरिए यह आरोपी ने अपने सहयोगियों के साथ ई-वे बिल जनरेट करता था।

आरोपी ने अब तक 109.97 करोड़ रुपए के ई-वे बिल जनरेट किए थे, जिसमें 6.31 करोड़ रुपए करचोरी उजागर हुई। जीएसटी अधिकारियों ने आरोपी को 17 दिसम्बर तक रिमाण्ड पर लिया है। इससे पूर्व भी आरोपी 27 अगस्त को एक अन्य कर चोरी के मामले में गिरफ्तार किया जा चुका है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned