अपहृत किशोर की हत्या का पर्दाफाश

Mukesh Sharma

Publish: Oct, 13 2017 04:51:28 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
अपहृत किशोर की हत्या का पर्दाफाश

जिले के बाकरोल गांव निवासी अपहृत किशोर दीप उर्फ भयलु उर्फ कन्हैया (११) की हत्या का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।

आणंद।जिले के बाकरोल गांव निवासी अपहृत किशोर दीप उर्फ भयलु उर्फ कन्हैया (११) की हत्या का पर्दाफाश करते हुए पुलिस ने बुधवार को आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है।


वल्लभविद्यानगर पुलिस थाने के निरीक्षक एन. एन. जादव ने बुधवार को बताया कि आरोपी मूलरूप से मध्यप्रदेश के राजगढ़ निवासी एवं वर्तमान में बाकरोल में किराये के मकान में रहने वाला अमन उर्फ अशोक नारायण पंचाल (१९) है, जो मिस्त्री का काम करता है। मृतक की बहन पायल व अशोक के बीच प्रेम संबंध थे। दीप ने दोनों को साथ देख लिया और माता-पिता से कहने की धमकी दी थी।

इस बीच ३० सितम्बर को दीप बाल कटाने के लिए गया तो अशोक बाइक पर उसका अपहरण कर ले गया। जोळ गांव की नहर के पास अशोक ने दीप को समझाया और प्रेम संबंधों के बारे में किसी को नहीं बताने का कहा, लेकिन दीप नहीं माना। इससे आक्रोशित अशोक ने दीप को उल्टा लिटाया और पैर से गला दबाकर उसकी हत्या कर दी। बाद में शव को झांडिय़ों में फेंक कर घर चला गया। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि दीप की हत्या गला दबाकर की गई थी।


पुलिस को अपहरण एवं हत्या के मामले में किसी जानकार का हाथ होने की आशंका थी, जिससे परिवार के सदस्यों से पूछताछ की। प्रारंभिक पूछताछ में मृतक की बहन ने बताया कि अमन उर्फ अशोक के साथ उसके प्रेम संबंध हैं। पुलिस ने अमन उर्फ अशोक की पूछताछ की तो उसने हत्या की बात कबूल की है। अशोक को गिरफ्तार कर पुलिस ने उसके पास से बाइक बरामद की है। पुलिस ने बताया कि अमन पढ़ाई में होशियार था, लेकिन घर की आर्थिक स्थिति कमजोर होने से वह बाकरोल गांव में आया और शांतिकुंज सोसायटी में पेइंग गेस्ट के रूप में रहता था।

मामले के अनुसार बाकरोल में पतरावळी कॉलोनी निवासी सुनील वसावा के पुत्र दीप का ३० सितम्बर को अपहरण हो गया और दो दिन बाद उसका शव जोळ मधुपुरा के पास केनाल से मिला था।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned