आरटीओ कर्मचारियों से 1.14 करोड़ लूटने का मामला:-तीन बदमाश पकड़े गए

Mukesh Sharma

Publish: Oct, 11 2017 04:39:55 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
आरटीओ कर्मचारियों से 1.14 करोड़ लूटने का मामला:-तीन बदमाश पकड़े गए

पिछले दिनों भिलाड़ आरटीओ चैकपोस्ट कर्मचारियों से १ करोड़, 14 लाख, 43 हजार, 469 रुपए लूटने वाले तीन बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 78 ला

वलसाड।पिछले दिनों भिलाड़ आरटीओ चैकपोस्ट कर्मचारियों से १ करोड़, 14 लाख, 43 हजार, 469 रुपए लूटने वाले तीन बदमाशों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके कब्जे से 78 लाख रुपए बरामद कर लिए हैं। पुलिस मुख्यालय में मंगलवार शाम एसपी सुनील जोशी ने मीडिया को यह जानकारी दी। पुलिस के अनुसार लूट का मुख्य षडय़ंत्रकर्ता वापी का है तथा इन दिनों अस्पताल में भर्ती है। इस कारण उसके नाम का खुलासा नहीं किया गया है।

गौरतलब है कि तीन अक्टूबर को भिलाड़ आरटीओ चैकपोस्ट के तीन कर्मचारियों से भिलाड़ नरोली ब्रिज के पास कार में आए पांच बदमाशों ने हथियार दिखाकर रुपए लूट लिए थे। आरोपियों ने इसके बाद वारदात में प्रयुक्त कार को वापी महावीरनगर के पास छोड़ दिया और वहां से अलग-अलग दिशाओं में भाग निकले थे। एसपी ने बताया कि सोमवार को पक्की सूचना मिली थी कि लूट के रुपए लेकर बदमाश यहां से जाने वाले हैं। इसके बाद पुलिस टीमों को अलर्ट कर दिया गया था। पुलिस ने नंदीग्राम के पास हाईवे से मुंबई की ओर जा रही दो कारों (जीजे 01 डीएक्स 8907 और डीडी 03 जी 1404) को रोक कर तलाशी ली तो 78 लाख रुपए बरामद हुए।

दोनों कारों में सवार मोहम्मद अल्ताफ उर्फ छोटू निवासी फ्लैट नंबर सात, ग्राउंड फ्लोर, सातपीर थाणे, मूल निवासी फिरोजाबाद, नजीर अहमद वलीउल्ला सैयद निवासी दारुखाना कोयला बंदर, अयप्पा मंदिर के सामने शिवड़ी मुंबई मूल निवासी सिद्धार्थनगर यूपी और संदीप वेडू पािटल निवासी बी-2 कैलाशकुंज सोसायटी सुरेलिया एस्टेट, वस्त्राल रोड, अमराईवाड़ी अहमदाबाद मूल निवासी नंदुरबार महाराष्ट्र को गिरफ्तार कर पूछताछ शुरू की तो तीनों ने लूट करना कबूल कर लिया। वारदात में वापी का एक शख्स मुख्य षडयंत्रकर्ता था। घटना के बाद हार्ट अटैक से उसे अस्पताल में भर्ती करना पड़ा। सोमवार को तीन आरोपी वापी आए और उसके आदमी से यह रुपए लेकर मुंबई जा रहे थे। पुलिस को इसकी भनक लग गई और उन्हें नकदी सहित गिरफ्तार कर लिया गया।

आरोपी हैं शातिर अपराधी

गिरफ्तार तीन में से दो आरोपियों पर कई मामले दर्ज हैं। मोहम्मद अल्ताफ चार लूट के मामले में शामिल रहा है और सात साल की जेल काट चुका है, जबकि नजीर मुंबई में चोरियों और मारपीट के मामले में कई बार जेल जा चुका है। पुलिस तीसरे आरोपी संदीप के आपराधिक रिकार्ड की जानकारी हासिल करने में जुटी है।

तीन जांच टीमें बनाई थीं

पुलिस अधीक्षक के अनुसार जिले में दिनदहाड़े हुई बड़ी लूट का पर्दाफाश करने के लिए एलसीबी इंचार्ज पीआई एमएम सरवैया, एसओजी पीएसआई एमएस सालुंके और भिलाड़ पीएसआई बीडी मोरी के नेतृत्व में तीन टीमें गठित की गई थीं। साथ ही तकनीकी टीम को भी इसमें शामिल किया गया। सोमवार को पुलिस को पता चला कि लूट के रुपए लेकर बदमाश निकलने वाले हैं तो उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया। पीआई सरवैया के अनुसार आशंका थी कि बदमाशों के पास हथियार हो सकते हैं। पुलिस टीम ने बड़ी होशियारी से बदमाशों को गिरफ्तार किया। बदमाशों ने जो गाड़ी छोड़ी थी, उसमें से पुलिस को दो लकड़े, दो बड़े चाकू, तलोजा पनवेल के रिलायंस पेट्रोल पंप की पावती, एक शर्ट और नीले रंग की टी शर्ट बरामद हुई थी।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned