पुराने नोटों के साथ दो को पकड़ा

पुराने नोटों के साथ दो को पकड़ा

Gyan Prakash Sharma | Publish: Sep, 02 2018 03:12:07 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

५०० की दर के ३८९ नोट मिले

राजकोट. नोटबंदी को करीब दो वर्ष होने के बावजूद अभी भी बाजार में पुराने नोटों की हेराफेरी रुकने का नाम नहीं ले रही है। राजकोट में कमिशन पर बदलवाने के लिए पहुंचे दो जनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर उनके पास से ५०० की दर के ३८९ नोट बरामद किए हैं। प्रारंभिक पूछताछ में दोनों ने पुराने नोट मोरबी निवासी युवक से लेने की बात कबूल की है।
मुखबिर से मिली सूचना पर क्राइम ब्रांच के निरीक्षक एच. एम. गढ़वी एवं उप निरीक्षक एम. बी. जाडेजा सहित टीम शनिवार सुबह याज्ञिक रोड पर निगरानी में थी। इस दौरान शंकास्पद स्थिति में खड़े दो जनों को हिरासत में लेकर तलाशी ली, जिसमें उनके पास से चलन से बाहर हुए ५०० रुपए की दर के ३९८ नोट मिले।
दोनों के नाम मोरबी के नानी वावडी गांव निवासी जगदीश रैयाणी व जामनगर जिले के विभापर गांव निवासी बुधा संगराम ध्रांगिया होने की जानकारी मिली। प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया कि दोनों मित्र जमीन-मकान की खरीद-बिक्री का काम करते हैं। यह पुराने नोट तीन महीने पहले मोरबी निवासी अमृत से लिए थे। तीन महीने अपने पास रखने के बाद शनिवार को कमिशन पर नोट बदलवाने के लिए याज्ञिक रोड पर पहुंचे, लेकिन नोट बदलने से पहले ही पुलिस ने दोनों को पकड़ लिया।

 

१५ पिस्तौल व तमंचों के साथ एमपी का गिरोह पकड़ाया
राजकोट. स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप (एसओजी) की टीम ने हथियारों के साथ मध्यप्रदेश (एमपी) गिरोह को गिरफ्तार कर स्थल से १५ पिस्तौल व तमंचा एवं १६ कार्टिस बरामद की है।
पुलिस के अनुसार गिरफ्तार आरोपियों में बोटाद जिले की राणपुर तहसील के जाळिया गांव निवासी हरेश खावडिया (३५), मध्यप्रदेश के भिंड जिले की पांडरी तहसील के रामपुरा गांव निवासी राघवेन्द्रसिंह उर्फ मोनीसिंह राजावत, अजयसिंह इन्द्रसिंह राजावत, विजयङ्क्षसह राजावत एवं ईश्वरिया गांव निवासी राजेशसिंह गंगासिंह राजावत शामिल हैं।
एसओजी के निरीक्षक एस. एन. गडु एवं उप निरीक्षक ओ. पी. सिसोदिया सहित टीम टीम शुक्रवार रात को गश्त में थी। इस दौरान हैड कांस्टेबल आर.के. जाडेजा व धर्मेन्द्रसिंह को मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर टीम गोंडल रोड पर चौकड़ी से भावनगर हाईवे मार्ग पर निगरानी थी। इस बीच शुक्रवार देर रात को पुल से गुजर रहे हरेश को रोककर तलाशी ली, जिसमें उसके पास से तीन तमंचे मिले। प्रारंभिक पूछताछ में बताया कि यह हथियार उसने मध्यप्रदेश के चार जनों से खरीदे हैं, जो अभी बेचकर निकले हैं। ऐसे में पुलिस ने पीछा करके मध्यप्रदेश की गिरोह को पकड़ा और तलाशी ली, जिसमें हथियार व कार्टिस मिले।
पुलिस ने स्थल से कुल ७ देशी तमंचा, ७ देशी पिस्तौल, एक देशी रिवॉल्वर व १६ कार्टिस और पांच मोबाइलों सहित एक लाख १९ हजार रुपए का माल बरामद किया है। डीसीबी पुलिस थाने के चेतनसिंह गोहिल की शिकायत के आधार पर पांचों के विरुद्ध मामला दर्ज किया है। हरेश इससे पूर्व, ब्याज वसूली को लेकर एक युवक की हत्या में संलिप्त था और डेढ़ वर्ष पूर्व ही जेल से छूटा है।

Ad Block is Banned