आत्मदाह के लिए कलक्टर कार्यालय पहुंचे युवक को पकड़ा

बचाने के लिए आए परिवारजन भी हिरासत में

बुटलेगर के विरुद्ध कार्रवाई नहीं होने पर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मांगी थी मंजूरी

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 16 Dec 2020, 11:22 PM IST

वडोदरा. जिले के जगतपुरा गांव के बुटलेगर के विरुद्ध कार्रवाई की मांग पूरी नहीं होने पर मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आत्मदाह की मंजूरी मांगने के बाद एक किशोर ने बुधवार को जिला कलक्टर कार्यालय पहुंचकर आत्मदाह का प्रयास किया। उसे पुलिस टीम ने पकड़ लिया। उसे बचाने पहुंचे परिवारजनों को भी हिरासत में लिया गया है।
सूत्रों के अनुसार जगतपुरा गांव निवासी नरेश गोविंद गोहिल करीब तीन वर्ष पहले उसी गांव में शराब का कारोबार करने वाले बुटलेगर उपेन्द्र गोहिल व महेश गोहिल के वहां काम करता था। दोनों के कहने पर वह उनके घर पर मोबाइल फोन देने गया। उसने वहां मौजूद महिलाओं को मोबाइल फोन दिया। इस कारण रंजिश के चलते दोनों बुटलेगरों ने कथित तौर पर नरेश की पिटाई की और गांव में रहने पर जान से मारने की धमकी दी।
घबराकर नरेश ने घर छोड़ दिया और सावली तहसील के सीतापुरा गांव में रहने वाले मामा के घर रहने गया। उसने तीन वर्ष में घर लौटने के लिए अनेक बार प्रयास किया। उसने पुलिस थाने में अनेक बार बुटलेगरों के विरुद्ध कार्रवाई के लिए लिखित और मौखिक तौर पर शिकायत करते हुए गांव में रहने पर सुरक्षा देने की मांग की। इसके बावजूद कार्रवाई नहीं होने पर बुटलेगर उसे गांव में प्रवेश नहीं करने देते।
इस कारण उसने आत्महत्या का निर्णय करते हुए मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर आत्मदाह करने की मंजूरी देने की मांग की। इस बीच, नरेश अपने मामा के घर से बुधवार को ज्वलनशील पदार्थ भरा डिब्बा लेकर जिला कलक्टर कार्यालय पहुंच गया। उसने आत्मदाह करने का प्रयास किया, तभी वहां मौजूद पुलिस टीम ने उसे पकड़ लिया। सूचना मिलने पर नरेश की माता, बहन आदि भी उसे बचाने के लिए वहां पहुंची। उन्होंने नरेश की मांग पूरी करने की मांग की, पुलिस टीम ने उन्हें हिरासत में ले लिया।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned