चौपाल लगाई, महिलाओं की सुनी समस्याएं

Mukesh Sharma

Publish: Oct, 10 2017 03:47:03 (IST)

Ahmedabad, Gujarat, India
चौपाल लगाई, महिलाओं की सुनी समस्याएं

राहुल ने सोमवार अपराह्न आणंद में बोरसद तहसील के देदरडा गांव पहुंचने पर चौपाल लगाई। खटिया पर बैठकर उन्होंने दूध मंडली की महिलाओं की समस्याएं सुनीं। उन्

अहमदाबाद/आणंद।राहुल ने सोमवार अपराह्न आणंद में बोरसद तहसील के देदरडा गांव पहुंचने पर चौपाल लगाई। खटिया पर बैठकर उन्होंने दूध मंडली की महिलाओं की समस्याएं सुनीं। उन्होंने महिलाओं से कहा कि जब वे न्यूजीलैण्ड गए थे तब दूध निर्यात करनेवाली की कम्पनियों ने दूध उत्पादन के नक्शे बताते हुए कहा था कि वे इतनी जगहों पर दूध का निर्यात करते हैं। जब उन कम्पनियों के संचालकों से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि वे भारत में आणंद की महिलाओं के दूध उत्पादन की शक्ति को मात नहीं दे सकते।

‘गुड इवनिंग’ का जवाब नमस्ते से :

चौपाल के दौरान एक महिला ने जब उनसे गुड इवनिंग कहा तो उन्होंने हाथ जोडक़र महिला से नमस्ते कहा। बाद में महिला ने राहुल से अपनी समस्या बताते हुए कहा कि सिर्फ अमूल का ही डॉक्टर है। देखा जाए तो हर पांच गांव के बीच एक डॉक्टर होना चाहिए। एक महिला ने कहा कि उनको दूध के पर्याप्त दाम नहीं मिलते, जो पैसा मिलता है वह भी नियमित नहीं मिलता।

बच्ची से किया दुलार....

बोरसद में उन्होंने चार वर्ष की बालिका देवांशी से न सिर्फ दुलार किया बल्कि उसका हाथ पकडक़र कुछ दूर तक साथ चले। जबकि बालिका का दूसरा हाथ उसकी मां पकड़े हुए थी।
मोदीजी कैसे चौकीदार!

राहुल ने अमित शाह के बेटे जय शाह के बहाने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी हमला बोलते हुए कहा कि मोदीजी कहते थे कि वे न खाते हैं और ना खाने देते हैं तो फिर शाह के बेटे की कंपनी का कारोबार एक वर्ष में 50 हजार रुपए से बढक़र 80 करोड़ रुपए कैसे हो गया! यह तो मोदीजी के स्टार्टअप योजना का कमाल है। मोदीजी कहते थे कि वह हिन्दुस्तान के प्रधानमंत्री नहीं बल्कि चौकीदार हैं तो फिर अब वे बताएं कि वे चौकीदार थे या फिर...।

मानसिक रोगी को परिजनों से मिलाया

शहर के सांढिया पुल के समीप से करीब 25 दिन पूर्व मिले मानसिक रोगी को पुलिस ने सोमवार को उसके परिजनों से मिला दिया। जानकारी के अनुसार शहर के गोकुलनगर क्षेत्र में सांढिया पुल के पास से रात में गश्त के दौरान गत 14 सितम्बर को पुलिस को एक मानसिक रूप बीमार युवक मिला। पूछताछ में वह पुलिस के समक्ष कुछ भी बताने की हालत में नहीं था। पुलिस ने अजय केशवाला, केतन मकवाणा, असरफ सुमरा, लाखा माराज व कांतिभाई शाह नामक सेवाभावी लोगों के साथ मिलकर उसका उपचार कराया।

उपचार के बाद धीरे-धीरे युवक की हालत में कुछ सुधार हुआ। इसके बाद उसने अपना नाम रामनरेश किर्ती प्रसाद यादव (35वर्ष) और उत्तर प्रदेश के आगरा जिले के मोहारी गांव निवासी बताया। पुलिस ने इन सेवाभावी लोगों की मदद से युवक के परिजनों से सम्पर्क कर उन्हें मामले से अवगत कराया। उत्तर प्रदेश से कलुभाई किर्ती प्रसाद यादव तथा जगतपाल यादव ने जामनगर आकर सिटी.सी.डिविजन थाने के पुलिस निरीक्षक सी.एन. परमार से सम्पर्क किया। पुलिस ने जैसे ही युवक को परिजनों से मिलाया वहां का माहौल भावुक हो गया।

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned