छोटा उदेपुर : पानी नहीं मिला तो १५ गांवों के किसानों ने दी चुनाव बहिष्कार की चेतावनी

छोटा उदेपुर जिले में सिंचाई के पानी की किल्लत, प्रचार के लिए गांव में नहीं घुसने देंगे प्रत्याशियों को!

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 10 Apr 2019, 03:40 PM IST

वडोदरा. छोटा उदेपुर जिले की बोडेली तहसील के तरगोळ क्षेत्र के १५ गांवों में सिंचाई का पानी नहीं मिलने के कारण फसलें सूखने के कगार पर हैं। ऐसे में आक्रोशित किसानों ने सिंचाई का पानी नहीं मिला तो लोकसभा चुनाव के बहिष्कार की चेतावनी दी है। साथ ही किसी भी पार्टी के प्रत्याशी को गांव में प्रचार के लिए घुसने पर रोक लगाने की भी चेतावनी दी है।
तरगोळ क्षेत्र के १५ गांवों से सुखी सिंचाई योजना की केनाल गुजर रही है, लेकिन पानी नहीं मिलने के कारण फसल सूख रही है। ऐसे में आक्रोशित किसान बोडेली स्थित सुखी कार्यालय में पहुंचे और कार्यपालक अभियंता को ज्ञापन देते हुए कहा कि यदि पानी नहीं मिला तो लोकसभा चुनाव का बहिष्कार किया जाएगा।


इन गांवों में सिंचाई के पानी का अभाव :
स्थानीय लोगों का आरोप है कि पावीजेतपुर, जांबुघोड़ा व बोडेली तहसील के किसानों के लिए सुखी सिंचाई के पानी के लिए केनाल बनाई है, लेकिन योग्य आयोजन के अभाव में बोडेली तहसील के तरगोळ क्षेत्र के गाजीपुरा, जेसिंगपुरा, मोतीपुरा, अछाली, छाणतलावडा, मोरखला, वसाहत, थारकुवा, वांदरडा, काछला, बमकोई, चांदण, नारसिंगपुरा सहित १५ गांवों में सिंचाई के पानी का अभाव है। जांबुघोड़ा तहसील के खेतों में अधिक पानी मिलता है, लेकिन बोडेली के गांवों में आयोजन के अभाव में पानी नहीं मिल रहा। केनालों की पाइप लाइन होने के बावजूद ३० वर्ष से पानी की समस्या है।
अछाली निवासी नवल बारिया एवं किसान नलिन जयस्वाल का कहना है कि बोडेली तहसील के तरगोळ क्षेत्र के गांवो में सुखी योजना के पानी के लिए अनेक बार शिकायत की, लेकिन कोई हल नहीं निकला, ऐसे में अब चुनाव बहिष्कार की चेतावनी दी गई है।

Gyan Prakash Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned