समृद्ध जीवन ग्रुप की एक और निदेशक की गिरफ्तारी

समृद्ध जीवन ग्रुप की एक और निदेशक की गिरफ्तारी

nagendra singh rathore | Publish: Sep, 07 2018 10:44:02 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

५०० करोड़ की ठगी मामला

अहमदाबाद. गुजरात के लोगों के साथ ५०० करोड़ रुपए की ठगी करने के मामले में वांछित समृद्ध जीवन ग्रुप के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक महेश मोतेवर की वांछित पत्नी वैशाली महेश मोतेवर को सीआईडी क्राइम ने ट्रांसफर वारंट से पूणे जेल से पकड़ा है। इस मामले में यह छठी गिरफ्तारी है। इससे पहले महेश मोतेवर की दूसरी पत्नी को भी पकड़ा जा चुका है।
वैशाली भी समृद्ध जीवन ग्रुप में निदेशकों में से एक है और इस मामले में दर्ज १४ आरोपियों में से एक है।
सीआईडी क्राइम की टीम ने गुरुवार को वैशाली को पूणे जेल से ट्रांसफर वारंट के आधार पर गिरफ्तार करके अदालत में पेश किया। अदालत ने उसे ११ सितंबर तक रिमांड पर सौंपा है।
चंद दिनों पहले ही सीआईडी क्राइम ने समृद्ध जीवन ग्रुप कंपनी के अध्यक्ष व प्रबंध निदेशक की दूसरी पत्नी व कंपनी की निदेशक लीना मोतेवर, एवं अभिषेक महेश मोतेवर व प्रसाद मोतेवर को पकड़ा था। इससे पहले इस मामले में सुनीता थोराट और महेन्द्र गाडे को भी गिरफ्तार किया जा चुका है।
आरोपी के विरुद्ध सीआईडी क्राइम की ओर से गांधीनगर, सूरत, अहमदाबाद, वडोदरा शहर, भावनगर, राजकोट जोन में अलग अलग प्राथमिकी दर्ज की गई हैं।
गांधीनगर जोन में दर्ज मामले में समृद्ध जीवन ग्रुप के प्रबंध निदेशक सहित १५ निदेशक व अन्य लोगों पर नामजद प्राथमिकी दर्ज की गई है। इसमें इन सभी पर मिलीभगत करके वर्ष २००३ से गुजरात में अलग अलग ४० जगहों पर शाखाएं शुरू करके कृषि एवं पशुपालन से जुड़़ी योजनाएं, जमीन के प्रोजेक्ट, जमीन ना लेनी हो तो पांच साल में निवेश की गई राशि को दोगुना करके देने सरीखी योजनाएं शुरू की थीं। इन योजनाओं से कृष्णनगर निवासी हितेश पटेल व अन्य ७० एजेंटों ने जुड़ते हुए ७४५२ लोगों को विश्वास में लेकर उनसे नौ करोड़ ३२ लाख रुपए निवेश कराए। इसके अलावा करीब ८०-९० करोड़ का निवेश कराया। आरोपियों ने पैसा लेकर कोई लाभ नहीं देकर विश्वासघात और ठगी की है। गुजरात में करीब पांच सौ करोड़ ठगने का आरोप है।

Ad Block is Banned