वीएस अस्पताल में सीएम ने सफाई श्रमदान किया

वीएस अस्पताल में सीएम ने सफाई श्रमदान किया

Omprakash Sharma | Publish: Sep, 16 2018 10:20:20 PM (IST) | Updated: Sep, 16 2018 10:20:21 PM (IST) Ahmedabad, Gujarat, India

स्वच्छता ही सेवा पखवाड़ा

अहमदाबाद. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने 'स्वच्छता ही सेवाÓ पखवाड़े के अन्तर्गत रविवार को महानगरपालिका संचालित वीएस अस्पताल परिसर स्थित ट्रोमा सेंटर के बाहर सफाई कर श्रमदान किया। उन्होंने स्वच्छ गुजरात से स्वस्थ गुजरात बनाने के लिए प्रेरित होने का आह्वान भी किया।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी आजीवन स्वच्छता के हिमायती रहे थे। प्रधानमंत्री ने महात्मा गांधी की १५०वीं जयंती से पूर्व देशभर में स्चच्छता के लिए अभियान चलाया है। सीएम ने कहा कि स्वच्छ गुजरात से स्वस्थ गुजरात-क्लीन गुजरात में से हेल्धी गुजरात जन सहयोग से बन सकेगा। १५ सितम्बर से दो सितम्बर गांधीजयंती तक इस अभियान के अन्तर्गत राज्य के प्रत्येक नागरिकों, शाला कॉलेजों के छात्रों, सेवा संस्थाओं, महानगरपालिका-नागरपालिका से जुड़े सभी लोग सफाई के लिए एक घंटे भी निकालें तो गुजरात को गंदगी से मुक्त किया जा सकेगा। स्वच्छता सफाई के अन्तर्गत जारी अभियान में लाखों टन कचरे का निराकरण कर दिया गया है। साथ ही राज्य में २४ लाख से अधिक शौचायलों का निर्माण भी किया गया जो खुले में शौच क्रिया को रोकने की बड़ी कवायद है।
कुपोषण मुक्त गुजरात...
११ जिलों में बच्चों समेत १३.२९ लाख को पौष्टिक आहार पहुंचाने की पहल
- सूरत में आज रूपाणी करेंगे नवनिर्मित टेक होम राशन प्लान्ट का लोकार्पण
अहमदाबाद. सूरत में सुमूल डेयरी के ५५ करोड़ रुपए की लागत से तैयार हुए टेक होम राशन (टी.एच.आर.) प्लान्ट का सोमवार को मुख्यमंत्री विजय रूपाणी लोकार्पण करेंगे। प्लान्ट से ११ जिलों के ६.३० लाख बच्चों समेत १३.२९ लाख जरूरतमंदों को पौष्टिक आहार का लाभ मिल सकेगा।
राज्य सरकार ने कुपोषणमुक्त गुजरात के उद्देश्य से आंगनवाड़ी के बच्चों, गर्भवती महिलाओं, माता एवं किशोरियों को पौष्टिक व पूरक आहार मुहैया कराने के लिए गुजरात राज्य मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन के सहयोग से टेक होम राशन योजना तैयार की है। इसके अन्तर्गत बालशक्ति, मातृशक्ति और पूर्णाशक्ति के नाम के साथ पूरक पोषक आहार तैयार किया जाएगा। जिसमें गेहूं, बेसन, सोयाबीन, गुड़, मक्का, चावल व अतिरिक्त पोषक तत्वों को शामिल किया गया है। पौष्टिक तत्वों से हलवा, सुखड़ी, राब, लड्डू जैसे ३० प्रकार के पोषक व्यंजन तैयार होंगे। मुख्यमंत्री सोमवार को समूल डेरी के टीएचआर प्लान्ट का उद्घाटन करेंगे। प्लान्ट में प्रतिदिन २०० मेट्रिक टन उत्पदन हो सकेगा। इसका लाभ सूरत, तापी, भरुच, नर्मदा, डांग, नवसरी, वलसाड, दाहोद, वडोदरा, छोटाउदेपुर और पंचमहाल समेत ११ जिलों की १७९५५ आंगनवाडियों के छह लाख तीस हजार बच्चों तथा ६.९९ लाख किशोरियों व गर्भवती महिलाओं को मिल सकेगा।

Ad Block is Banned