स्थानीय निकाय चुनाव की जीत ने रखी २०२२ के चुनावों में विजय की नींव: सीएम रूपाणी

CM vijay rupani, BJP, Local body election, Congress, AAP, AIMIM गुजरात भाजपा का गढ़ था, है और रहेगा, कांग्रेस का जिला-तहसील, नपा से भी सफाया, आप, एआईएमआईएम के खाते खुलने पर बोले, जनता भाजपा के साथ

By: nagendra singh rathore

Published: 02 Mar 2021, 09:01 PM IST

अहमदाबाद. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने कहा कि महानगर पालिका के बाद जिला, तहसील और नगरपालिका चुनावों में मिली भव्य जीत के परिणाम वर्ष २०२२ में होने वाले विधानसभा चुनावों में जीत की नींव हैं।
विकास की राजनीति ही इस चुनाव का मुद्दा था। इसी मुद्दे पर हम विचलित हुए बिना आगे बढ़े। वर्ष २०१७ में जीते सरकार बनी। वर्ष २०१९ में भी लोकसभा की सभी २६ सीट जीते। वर्ष २०२० में कांग्रेस की गढ़ वाली 8 सीटें उपचुनाव में जीतीं। वर्ष २०२१ की शुरूआत में सभी जिला, तहसील, नपा और मनपा में भी भव्य जीत हुई है। वर्ष २०२२ में विधानसभा की सभी सीटें जीतेंगे। इस जीत से हमारी जिम्मेदारी बढ़ी है। शहर हो या गांव जहां मनुष्य वहां सुविधा पहुंचाएंगे।
मुख्यमंत्री मंगलवार को जिला, तहसील और नगरपालिका चुनावों में भाजपा को मिली जीत पर कमलम् में संवाददाताओं को संबोधित कर रहे थे।
सीएम ने कहा कि इस भव्य जीत से भाजपा कार्यकर्ता अतिविश्वास में ना आएं और लापरवाह ना बनें उसका पार्टी ध्यान रखेगी।
सीएम ने कहा कि पहले अटकलें लगाई जा रही थीं कि शहरों में तो भाजपा है, लेकिन गांव में सीटें नहीं मिलेंगीं। लेकिन शहरों से भी ज्यादा अच्छा परिणाम मिला है। कांग्रेस विधायक निरंजनभाई पटेल खुद पेटलाद नपा की सीट से हार गए। छोटू वसावा के पुत्र भी हार गए। इसका मतलब साफ है कि गुजरात भाजपा का गढ़ था है और रहेगा।
सीएम ने प्रदेश भाजपा अध्यक्ष सी आर पाटिल व प्रदेश भाजपा संगठन व कार्यकर्ताओं के परिश्रम को सराहा। कहा इनके चलते ही भूतकाल में किसी पार्टी को इतनी ज्यादा बैठकें, तहसील, जिला पंचायत और नगरपालिका में नहीं मिली हैं, जितनी इस बार भाजपा को मिली हैं।

विपक्ष के लायक भी नहीं समझा कांग्रेस को
सीएम ने कहा कि अब कांग्रेस डूबती नाव हैं। न नेता है, न नीयत अच्छी है न नीति अच्छी है। कांग्रेस अब साफ हो गई है। आम जनता ने कांग्रेस को सत्ता के लिए ही नहीं विपक्ष के लिए भी मंजूर नहीं किया है। ऐसे परिणाम आए हैं। प्रश्न के जवाब में उन्होंने कहा कि गुजरात की जनता ने चाहे परेश धानाणी हों या अमित चावडा सभी के गढ़ों को ध्वस्त किया है। आदिवासी क्षेत्र हो या मध्यगुजरात, सौराष्ट्र, उत्तर गुजरात सब जगह भाजपा का श्रेष्ठ परिणाम रहा है।

आप, एआईएमआईएम से चुनौती नहीं
सीएम ने जिला, तहसील और नपा चुनावों में भी आमआदमी पार्टी को मिली सीटें और एआईएमआईएम का खाता खुलने पर कहा कि इनसे आगामी विधानसभा चुनावों में कोई चुनौती नहीं मिलने वाली। गुजरात की जनता भाजपा के साथ है। ९००० सीटों के इस चुनाव में अगर २० से २५ सीटें कोई पार्टी जीतती है तो उसे बड़ा उलटफेर नहीं कह सकते। इससे ज्यादा तो निर्दलीय भी जीतते हैं।

AAP Congress
Show More
nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned