scriptCompulsory Military service exists in one third country | Military service: दुनिया के 60 देशों में किसी न किसी रूप में सैन्य सेवा अनिवार्य | Patrika News

Military service: दुनिया के 60 देशों में किसी न किसी रूप में सैन्य सेवा अनिवार्य

Compulsory Military service, exists. one third country of the world, agnipath

अहमदाबाद

Published: June 22, 2022 10:37:50 pm

Compulsory Military service exists in one third country of the world

उदय पटेल
इन दिनों अग्निपथ योजना को लेकर देश के कई राज्यों में बवाल मचा हुआ है। तमाम युवा इस योजना का विरोध करते दिख रहे हैं। केन्द्र सरकार चार वर्षों की भर्ती के लिए यह योजना लेकर आई है। इसे लेकर कई तहस की बहस लगातार जारी है। यदि दुनिया भर के देशों की ओर नजर दौड़ाएं तो पता चलेगा कि कुछ देशों में सैन्य सेवा अनिवार्य है जबकि कई देशों में यह अनिवार्य नहीं है।
अमरीकी थिंक टैंक पीव रिसर्च सेन्टर की ओर से दुनिया के 191 देेशों के अध्ययन में पता चला है कि करीब एक तिहाई देशों में किसी न किसी रूप में अनिवार्य भर्ती प्रक्रिया है। करीब दो दर्जन देशों में अनिवार्य सैन्य भर्ती है लेकिन कई जगह पर फिलहाल इसका अमलीकरण नहीं हो रहा है। वहीं 108 देशों में अनिवार्य सैन्य सेवा का कोई प्रावधान नहीं है।
Military service: दुनिया के 60 देशों में किसी न किसी रूप में सैन्य सेवा अनिवार्य
Military service: दुनिया के 60 देशों में किसी न किसी रूप में सैन्य सेवा अनिवार्य
भारत के पड़ोसी देशों में सैन्य सेवा अनिवार्य नहीं
भारत के पाकिस्तान, श्रीलंका, मालदीव, बंगलादेश, नेपाल में भी अनिवार्य सैन्य सेवा लागू नहीं है। हालांकि भूटान में युवाओं के लिए सैन्य प्रशिक्षण की जरूरत होती है हालांकि भर्ती स्वैच्छिक है। मध्य एशियाई देशों में कजाकिस्तान, कीर्गिस्तान, तुर्कमेनिस्तान, उजबेकिस्तान में अनिवार्य सैन्य सेवा की व्यवस्था है।
चीन में तकनीकी अनिवार्यता मगर अमल नहीं
चीन में तकनीकी रूप से अनिवार्य सैन्य सेवा है लेकिन इसका शायद ही पूरी तरह से अमल किया जाता है। क्योंकि चीन के पास से सैना की जरूरतों से ज्यादा वोलेन्टियर हैं। मध्य पूर्व के देशों में जॉर्डन, यूएई, सीरिया, कुवैत, कतर में अनिवार्य सैन्य प्रणाली है। हालांकि यहां के कुछ देशों में ऐसा नहीं है।

इजरायल, उत्तर कोरिया में महिलाएं भी शामिल
इजरायल, उत्तर कोरिया, ट्यूनिशिया, मोरक्को, इरीट्रिया व माली अनिवार्य सैन्य सेवा वाले देशों में शामिल हैं। यहां पर महिलाएं भी अनिवार्यता का हिस्सा हैं। इसके साथ ही बेनिन, केप वर्दे, मोजाम्बिक, नार्वे व स्वीडन में चयनित सेवा प्रणाली है जिसमें महिलाएं पुरुष दोनों शामिल हैं।

अमरीका-ब्रिटेन में फिलहाल यह सेवा नहीं
अमरीका में भी फिलहाल अनिवार्य सैन्य सेवा सक्रिय नहीं है। लेकिन कुछ चयनित सर्विस जरूरत के समय 18 से 25 वर्ष के युवाओं को सेवा में लिए जाने का अधिकार रखते हैं। ब्रिटेन में इसे 1960 में समाप्त कर दिया गया। आस्ट्रेलिया, जापान, कनाडा, फ्रांस, दक्षिण अफ्रीका, न्यूजीलैण्ड जैसे देशों में अनिवाय सैन्य सेवा नहीं है।

यूरोप के देशों में कुछ इस तरह है स्थिति
यूरोप के देशों पर नजर दौड़ाएं तो यह पता चलता है कि आर्मेनिया, रूस, बेलारूस, अजरबैजान, डेनमार्क, फिनलैण्ड, जॉर्जिया, लिथुआनिया, स्वीडन, स्विटजरलैण्ड, तुर्की में किसी न किसी रूप में अनिवार्य सैन्य सेवा या प्रशिक्षण है। फ्रांस, हंगरी, आयरलैण्ड, नीदरलैण्ड जैसे देशों में ऐसी व्यवस्था नहीं है।

अग्निपथ योजना बहुत अच्छी
अग्निपथ योजना अच्छी है। इससे एक सैनिक चार वर्ष में पूरी तरह अनुभवी होकर बाहर निकेलगा। वहीं, 25 फीसदी युवा सेना में बने रहेंगे। उधर कुछ देशों में अनिवार्य सैन्य सेवा भी काफी सही है। सेवानिवृत्ति के बाद आपातकालीन जरूरत में प्राप्त राशि का उपयोग किया जा सकता है।
- इरफान वोरा, सेवानिवृत्त हवलदार

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

मौसम अलर्ट: जल्द दस्तक देगा मानसून, राजस्थान के 7 जिलों में होगी बारिशइन 4 राशियों के लोग होते हैं सबसे ज्यादा बुद्धिमान, देखें क्या आपकी राशि भी है इसमें शामिलस्कूलों में तीन दिन की छुट्टी, जानिये क्यों बंद रहेंगे स्कूल, जारी हो गया आदेश1 जुलाई से बदल जाएगा इंदौरी खान-पान का तरीका, जानिये क्यों हो रहा है ये बड़ा बदलावNumerology: इस मूलांक वालों के पास धन की नहीं होती कमी, स्वभाव से होते हैं थोड़े घमंडीबुध जल्द अपनी स्वराशि मिथुन में करेंगे प्रवेश, जानें किन राशि वालों का होगा भाग्योदयमोदी सरकार ने एलपीजी गैस सिलेण्डर पर दिया चुपके से तगड़ा झटकाजयपुर में रात 8 बजते ही घर में आ जाते है 40-50 सांप, कमरे में दुबक जाता है परिवार

बड़ी खबरें

Maharashtra Crisis: क्या ज्योतिरादित्य सिंधिया के फॉर्मूले जैसा ही एकनाथ शिंदे गुट को लाने की तैयारी में बीजेपी, समझें क्या है पार्टी का प्लान बीMaharashtra: ईडी के समन पर संजय राउत ने कसा तंज, बोले-ये मुझे रोकने की साजिश, हम बालासाहेब के शिवसैनिकPresidential Election: यशवंत सिन्हा ने भरा नामांकन, राहुल गांधी-शरद पवार समेत विपक्ष के कई बड़े नेता मौजूदPunjab Budget LIVE Updates: वित्तमंत्री हरपाल चीमा ने कहा- सभी जिलों में बनाए जाएंगे साइबर अपराध क्राइम कंट्रोल रूमपटना विश्वविद्यालय के हॉस्टलों में छापेमारी, मिला बम बनाने का सामानMumbai News Live Updates: मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने बागी मंत्रियों के छीने विभागMaharashtra Political Crisis: आदित्य को छोड़ शिवसेना के सारे MLA Minister हुए बागी, उद्धव ठाकरे के साथ बचे सिर्फ MLC मंत्रीयशवंत सिन्हा को समर्थन देगी TRS, क्या BJP के खिलाफ विपक्ष से हाथ मिला रहे KCR?
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.