कोरोना गाइडलाइन की पालना के साथ निकलेगी जलयात्रा: जाडेजा

Corona, Ahmedabad Rath Yatra, Pradeep singh jadeja, jal yatra, corona guidelines follow -रथयात्रा के लिए तब की परिस्थिति देख लिया जाएगा निर्णय, -गृहराज्यमंत्री जाडेजा ने भगवान जगन्नाथ के किए दर्शन, -रथयात्रा को लेकर मंदिर के महंत , न्यासी से चर्चा भी की

By: nagendra singh rathore

Published: 11 Jun 2021, 09:30 PM IST

अहमदाबाद. भगवान जगन्नाथ की १२ जुलाई को प्रस्तावित रथयात्रा से पहले 24 जून को जलयात्रा निकलेगी। कोरोना गाइडलाइन की पालना के साथ उसे निकाला जाएगा। जहां तक रथयात्रा का सवाल है तो इसको लेकर तब की परिस्थिति को देखकर सरकार उचित निर्णय करेगी।
यह बात गृहराज्यमंत्री प्रदीप सिंह जाडेजा ने शुक्रवार को जमालपुर स्थित भगवान जगन्नाथ मंदिर में भगवान के दर्शन करने के बाद मीडिया की ओर से पूछे गए सवाल के जवाब में कही।
जाडेजा का शुक्रवार को जन्मदिन था, जिससे पहले वे नगरदेवी मां भद्रकाली के दर्शन करने पहुंचे थे। उसके बाद उन्होने भगवान जगन्नाथ मंदिर पहुंचकर वहां भगवान के दर्शन किए। पूजा अर्चना की। उसके बाद उन्होंने मंदिर के महंत दिलीपदास महाराज और प्रमुख न्यासी महेन्द्र झा व अन्य लोगों के साथ रथयात्रा और उससे पहले निकलने वाली जलयात्रा को निकालने और उसकी तैयारियों को लेकर चर्चा की। शहर में फिलहाल कोरोना का संक्रमण काबू में है, जिससे कोरोना गाइडलाइन की पालना के साथ जलयात्रा निकाले जाने पर सहमति हुई है। लेकिन उसमें भी कोरोना गाइड लाइन का पालन होगा, यानि सीमित लोग ही इसमें शिरकत करेंगे।
इस वर्ष १२ जुलाई को भगवान जगन्नाथ की 144वीं रथयात्रा निकलनी प्रस्तावित है। इसको लेकर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। अहमदाबाद की रथयात्रा पुरी की रथयात्रा के बाद देश की दूसरी सबसे बड़ी रथयात्रा है। लाखों की संख्या में श्रद्धालू इस 18 किलोमीटर लंबी रथयात्रा में शिरकत करते हैं। 20 हजार से ज्यादा सुरक्षा कर्मचारियों की निगरानी में इसे निकाला जाता है। जिसमें केन्द्रीय अर्धसैनिक बल भी शामिल होते हैं। कई अन्य राज्यों की पुलिस भी इसमें तैनात रहती हैं। बीते वर्ष कोरोना संक्रमण के चलते इसे नहीं निकाला जा सका। मंदिर परिसर में ही रथों को घुमाकर परंपरा को बरकरार रखा गया था। इस बार संक्रमण के काबू में आने पर रथयात्रा निकलने की आस बंधी है।

सभी की इच्छा निकले रथयात्रा: दिलीपदास महाराज
जगन्नाथ मंदिर के महंत दिलीपदास महाराज ने भी कहा कि २४ जून को जलयात्रा को कोरोना गाइडलाइन की पालना के साथ निकाला जाएगा। जहां तक रथयात्रा का सवाल है तो मेरी इच्छा ही नहीं सभी नगरवासियों की इच्छा है कि भगवान जगन्नाथ नगरवासियों को दर्शन देने के लिए निकलें। गत वर्ष कोरोना के संक्रमण के फैलाव के चलते रथयात्रा नहीं निकल पाई थी। लेकिन जैसा कि सीएम विजय रूपाणी ने कहा है कि इस वर्ष रथयात्रा पर निर्णय परिस्थिति को देखते हुए सरकार और मंदिर प्रशासन चर्चा करने के बाद किया जाएगा।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned