Corona effect: जापान चीन से अपनी उत्पाद इकाइयां शिफ्ट कर सकता है गुजरात, भारी निवेश संभव, राज्य सरकार ने लिखा पत्र

Corona effect, Japan, China, Gujarat, India, Industries, shifting

By: Uday Kumar Patel

Updated: 18 Apr 2020, 11:41 PM IST

उदय पटेल

अहमदाबाद. दुनिया भर में विश्व व्यापी कोरोना वायरस महामारी के बाद कई देशों की आर्थिक हालत बिगड़ सकती है वहीं यह भारत के साथ-साथ गुजरात के लिए वरदान साबित हो सकता है। जापान की चीन स्थित कंपनियां अब भारत व अन्य देशों में शिफ्ट होने का मन बना रही है। भारत में इसे लेकर गुजरात ने पहल की है।

गुजरात सरकार ने राज्य में भारी मात्रा में निवेश के लिए जापान के सरकारी और व्यापारिक प्रमुखों को पत्र भी लिखा है। राज्य सरकार ने जापान से अपने कॉमर्शियल यूनिट और ऑपरेशन चीन से गुजरात में करने का अनुरोध किया है।
राज्य के उद्योग व खनिज विभाग के प्रधान सचिव मनोज कुमार दास ने बताया कि गुजरात सरकार की ओर से इसके लिए जापान सरकार, जापान एक्सर्टनल ट्रेड ऑर्गेनाईजेशन (जेट्रो) को पत्र भेजा गया है। इसे लेकर गुजरात सरकार ने इन इकाइयों को सभी तरह की मदद और इन्सेंटिव देने का आश्वासन दिया है।

इसके अलावा अमरीका के भारत-अमरीका व्यापार परिषद (यूएसआईबीसी) और भारत-अमरीका रणनीतिक साझेदारी फोरम (यूएसआईएसपीएफ) को पत्र भेजा गया है। जापान ने कोविड महामारी को देखते हुए चीन से बाहर किसी अन्य देश में जाकर उत्पादन करने को लेकर जापानी कंपनियों को 21.5 करोड़ डॉलर की मदद का प्रस्ताव भी रखा है।

राज्य सरकार का कहना है कि गुजरात में पहले से जापानी कंपनियां कार्यरत हैं। साथ ही समर्पित जापनी इंडस्ट्रियल पार्क भी है। राज्य सरकार के मुताबिक लॉकडाउन के समाप्त होते ही चीन से बाहर निकलने को इच्छुक जापान की कंपनियों को गुजरात में निवेश करने के प्रयास तेज किए जाएंगे।
दास ने बताया कि गुजरात में विदेशी पूंजीनिवेश गत चार वर्षों में चार गुणा बढ़कर 40 हजार करोड़ तक पहुंच गई है। यह पूरे भारत में कुल निवेश का 40 फीसदी हिस्सा है।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned