दुकानें सजी, ग्राहकों का अभाव

कोरोना संक्रमण के साथ अधिकमास के चलते बाजार अब भी सुस्त, नवरात्र पर्व का बाजार में नहीं दिख रहा है असर

By: Gyan Prakash Sharma

Updated: 16 Oct 2020, 12:09 AM IST

सिलवासा. कोरोना संक्रमण के साथ अधिकमास के चलते बाजार अब भी सुस्त हैं। व्यापारी अधिकमास के बाद त्योहारी सीजन की बाट जोह रहे हैं। नवरात्र पर्व नजदीक आते ही बाजारों में सामान वस्तुओं की खरीदारी के साथ गिफ्ट एवं उपहारों के बोर्ड लगने लगे हैंं। बाजारों में कई दुकानों पर सेल शुरू हो गई है। ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए कारोबारी हर संभव प्रयास कर रहे हैं।

नवरात्र में ज्यादा ग्राहकी के आसार नही

फिलहाल, बाजारों में चहल-पहल नहीं हैं। कोरोना संक्रमण के चलते रोजगार घटे हैं, वहीं महंगाई बढ़ी है। इसका असर बाजारों में पड़ा है। गरबा महोत्सव बंद होने से नवरात्र में ज्यादा ग्राहकी के आसार नहीं हैं। नवरात्र पर कपड़े, पूजन सामग्री, इलेक्ट्रॉनिक्स, इलेक्ट्रिकल सामान, आभूषण, बर्तन, मिठाई की सर्वाधिक मांग रहती हैं। इस महोत्सव में दुकानों से चणिया, चुनरी, पुरुषों के परिधान, डांडिया, इलेक्ट्रॉनिक एवं इलेक्ट्रिकल आयटम ज्यादा बिकते हैं। इस बार सार्वजनिक दुर्गा पूजा व गरबा महोत्सव बंद होने से कारोबार नहीं के बराबर है।

खरीददारों का इंतजार

व्यापारियों ने स्टॉक में रखे पुराने कपड़े, फ्रीज, टीवी, वाशिंग मशीन निकालने के लिए विशेष कटौती कर दी है, लेकिन फिर भी बाजारों में सुस्ती का माहौल बना हुआ है। पंचायत मार्केट, किलवणी नाका जैसे मुख्य बाजारों में ज्यादा ग्राहकी नहीं हैं। रखोली, खानवेल और नरोली के बाजार खरीदारों का इंतजार कर रहे है। नवरात्र 17 अक्टूबर से आरम्भ हो रहे हंै व इसके बाद दीपोत्सव है, परन्तु ग्राहकों की कमी से बाजारों में रोनक नहीं है। व्यापारियों ने त्योहारी उत्सव को देखते हुए माल-सामान स्टॉक कर लिया था, मगर बिक्री नहीं होने से आर्थिक हालत पतली हो गई है। व्यापारियों का कहना है कि इस बार दुकानों का किराया, बिजली बिल और बैंकों के ऋण अदायगी में कठिनाई हो रही है।
.......

Gyan Prakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned