Gujarat: 'कोरोनाकाल में भी १.६० लाख नए व्यापारियों ने कराया जीएसटी पंजीकरण'

ई-वे बिल भुगतान में गुजरात देश में प्रथम स्थान पर, नवीनीकृत राज्य कर भवन का लोकार्पण : corona pandemic, business man, GST, registration, Gujarat news

By: Pushpendra Rajput

Published: 21 Aug 2021, 09:22 PM IST

गांधीनगर. उप मुख्यमंत्री नीतिन पटेल ने कहा कि कोरोना काल के बीच भी एक लाख साठ हजार नए व्यापारियों ने जीएसटी पंजीकरण कराया है। कोरोना काल के बीच अप्रेल माह में पिछले चार वर्ष की तुलना में सबसे ज्यादा जीएसटी की आवक हुई। ई-वे बिल के भुगतान में गुजरात राज्य देशभर में प्रथम स्थान पर है। राज्य की आवक स्रोत में ७० से ८० फीसदी जीएसटी और वैट से होती है। पटेल ने शनिवार को अहमदाबाद में नवीनीकृत राज्य कर भवन के लोकार्पण के बाद यह जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि बोगस बिलिंग घोटाला और कर चोरी करनेवालों ेके खिलाफ सख्त कार्रवाई है। कोरोना काल में भी एक हजार करोड़ के बोगस बिलिंग घोटाले का पर्दाफाश कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की। जनता का एक-एक पैसे जनता के हित में उपयोग किया जाएगा। लॉकडाउन के हालात के बावजूद भी राज्य सरकार ने जनहित कार्यों को थमने नहीं दिया। कोरोना काल में भी सरकारी अस्पतालों में पांच हजार करोड़ रुपए खर्च किए गए, जिससे आमजन को नि:शुल्क उपचार मिला।

जीएसटी व वैट की आवक बढ़ी
उन्होंने कहा कि राज्य की अर्थव्यवस्था को गति देने में जीएसटी और वैट की अहम भूमिका होती है। राज्य की करीब ७० से ८० फीसदी आवक विभिन्न प्रकार के जीएसटी और पेट्रोल-डीजल पर वैट से होती है। पिछले वर्ष की तुलना में इस वर्ष की प्रथम छह माह में जीसटी और वैट की आवक में बढ़ी है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आमजन को आत्मनिर्भर बनाने के लिए भारत अभियान प्रारंभ किया है। इसके मद्देनजर ही मुख्यमंत्री विजय रुपाणी और हमारी टीम ने कर जमा कराने की अवधि, बैंक किस्तों में ब्याज की अवधि बढ़ाने, , ब्याजदर घटाने जैसे कई अहम निर्णय किए हैं। आत्मनिर्भर प्रोजेक्ट के तहत राज्य सरकार ने बिजली बिल, प्रोपर्टी टैक्स में माफी देकर महानगरपालिका, नगरपालिका और ग्राम पंचायतों के सरकारी खजाने से वित्तीय सहायता दी गई।

वहीं वित्त विभाग के मुख्य आयुक्त जे.पी. गुप्ता ने जीएसटी एनालिटिक्स और एन्टीलिजेन्स नेटवर्क (गैन) और आरएफआईडी आधारित एनआईसी सिस्टम के उफयोग की उप मुख्यमंत्री नीतिन पटेल को जानकारी दी। इस मौके पर वित्त विभाग के सचिव मिलिन्द तोरवणे, समीर वकील, अतिरिक्त आयुक्त किरण झवेरी समेत कई अधिकारी मौजूद थे।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned