scriptCorona third wave, Ahmedabad, Old age home, inquiry call raise | कोरोना की तीसरी लहर: वृद्धाश्रमों में भेजने के लिए दोगुनी संख्या में आने लगे फोन | Patrika News

कोरोना की तीसरी लहर: वृद्धाश्रमों में भेजने के लिए दोगुनी संख्या में आने लगे फोन

Corona third wave, Ahmedabad, Old age home, inquiry call raise two fold, senior citizen, जिन्हें दिया जन्म वे ही घर से बाहर निकालने पर उतारू, घर से परेशान एक बुजुर्ग तो खुद ही पहुंच गए वृद्धाश्रम

अहमदाबाद

Published: January 18, 2022 10:25:52 pm

नगेन्द्र सिंह

अहमदाबाद. कोरोना महामारी की इस तीसरी लहर में पहली और दूसरी लहर से भी ज्यादा तेजी से कोरोना का संक्रमण फैल रहा है। ऐसे में जब बुजुर्गों को घर की चारदीवारी में सुरक्षित रखे जाने की जरूरत है, तब उन्हें अपने ही उनके खुद के घर से बाहर का रास्ता दिखाने पर उतारू हैं।
शहर के वृद्धाश्रमों में बुजुर्गों को रखने के लिए आने वाले फोन कॉल की संख्या इन दिनों बढकऱ दो गुनी हो गई है।
शहर के नारणपुरा स्थित जीवन संख्या वृद्धाश्रम की संयुक्त प्रबंध न्यासी डिम्पल शाह बताती हैं कि जब से कोरोना की तीसरी लहर शुरू हुई है तब से बुजुर्गों को वृद्धाश्रम में रखने के लिए आने वाले फोन की संख्या लगभग दोगुनी हो गई है। पहले जहां दिन में औसतन 20 फोन आते थे आज उनकी संख्या बढकऱ 40 व उससे भी ज्यादा हो गई है।
एक 60 वर्षीय बुजुर्ग तो उनके परिजनों से इस कदर परेशान हो गए कि वे खुद ही वृद्धाश्रम आ गए और उन्हें यहां रखने के लिए कहने लगे। हालांकि बुजुर्ग को वृद्धाश्रम में रखने के लिए खून के रिश्ते वाले दो लोगों की लिखित अनुमति की जरूरत होती है, जिससे उन्हें समझाकर वापस घर भेजा है। वे परिजनों की मंजूरी लेकर आने वाले हैं। पत्नी, बेटा भी उन्हें वृद्धाश्रम में भेजने को तैयार हैं।
उनके यहां अभी 130 बुजुर्ग हैं, जिसमें 65 पुरुष व 65 महिलाएं शामिल हैं। वृद्धाश्रम में 150 लोगों को रखने की क्षमता है, लेकिन कोरोना संक्रमण को देखते हुए सभी कमरों में बुजुर्गों को नहीं रख सकते हैं, इसलिए कुछ कमरे खाली रखे गए हैं। ताकि संक्रमित होने पर संक्रमित बुजुर्ग को आइसोलेशन में रखा जा सके। ऐसा इसलिए है क्योंकि पहली लहर में 60 बुजुर्ग संक्रमित हुए थे। वे खुद भी संक्रमित हुई थीं। हालांकि उसके बाद सभी बुजुर्गों को कोरोना वैक्सीन के दोनों डोज दिलवा दिए हैं।
कोरोना की तीसरी लहर: वृद्धाश्रमों में भेजने के लिए दोगुनी संख्या में आने लगे फोन
कोरोना की तीसरी लहर: वृद्धाश्रमों में भेजने के लिए दोगुनी संख्या में आने लगे फोन
बिगड़ी आर्थिक हालत, संक्रमण का खतरा बड़ी वजह
डिम्पल शाह बताती हैं कि ज्यादातर लोग फोन कर कहते हैं कि कोरोना महामारी को 22 महीने हो गए हैं। नौकरी चली गई। धंधा चौपट हो गया। बिगड़ी आर्थिक स्थिति ने घर का बजट बिगाड़ दिया है। ऐसे में बुजुर्गों को संक्रमण लगने का खतरा ज्यादा रहता है। यदि वे संक्रमित होते हैं तो दवाईयों का खर्चा भी वे उठा सकें ऐसी स्थिति में नहीं हैं। उनके जरिए बच्चों और परिजनों को भी संक्रमण लग सकता है क्योंकि लोगों के घर भी छोटे हैं। ऐसे में बच्चों-बुजुर्गों को साथ रखने में दिक्कत हो रही है। बच्चों को बाहर रख नहीं सकते जिससे बुजुर्गों को वे वृद्धाश्रम में भेजने पर उतारू हैं। बुजुर्ग पहले घर से बाहर जाकर गार्डन में बैठते थे तो तरोताजा रहते थे, लेकिन अब वे भी 22 महीनों से लगभग घर में कैद हैं। ऐसे में जनरेशनगेप, मतभेद के चलते भी झगड़े बढ़ रहे हैं।
बेमन से आते हैं वृद्धाश्रम
वृद्धाश्रम न्यासी डिम्पल शाह के अनुसार बुजुर्ग वृद्धाश्रम में आ तो जाते हैं,लेकिन उनका मन घर पर ही लगा रहता है। उन्हें हर समय उनके नाती, पोतों, बच्चों की चिंता सताती रहती है। ऐसे में वृद्धाश्रम में उनका ध्यान रखने के लिए परामर्शकों की मदद ली जाती है। हालांकि यहां उनके जैसे और लोग होते हैं, जिससे कुछ दिन में वे उनसे घुल मिल जाते हैं, लेकिन घर घर होता है। वृद्धाश्रम घर नहीं बन सकता। चाहे कितनी भी सुविधाएं दे दी जाएं।
कोरोना की तीसरी लहर: वृद्धाश्रमों में भेजने के लिए दोगुनी संख्या में आने लगे फोन

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.