Corona : खांसी-बुखार ही नहीं सूंघने की क्षमता भी होती है प्रभावित

कोरोना के नए लक्षण...

By: Omprakash Sharma

Published: 16 May 2020, 10:35 PM IST

अहमदाबाद. आमतौर पर खांसी एवं बुखार जैसी शिकायत होने पर कोरोना की शंका होती है। लेकिन अब ऐसे मरीज भी सामने आ रहे हैं जिनमें खंासी और बुखार जैसे लक्षण नहीं बल्कि उनकी स्वाद और सूंघने की क्षमता प्रभावित पाई गई हैं। अहमदाबाद के सिविल अस्पताल में भी इस तरह के मरीज सामने आए हैं।
कोरोना वायरस के शरीर में पहुंचते ही फेफड़े प्रभावित होते हैं। हालांकि प्राथमिक लक्षण दिखने में 14 दिन का समय लग सकता है। आमतौर पर वायरस के लक्षणों में बुखार और सूखी खांसी पर ध्यान दिया जाता है। इसके कुछ दिनों बाद मरीज की सांस फूलने लगती है और सांस लेने में दिक्कत भी हो सकती है। वायरस के संक्रमित से पहले अब नए लक्षण भी सामने आ रहे हैं। ऐसे मरीजों में न तो बुखार है और न ही सूखी खांसी। सिर्फ उनकी सूंघने की क्षमता प्रभावित हुई है। कुछ मरीजों में स्वाद का आभास नहीं होने की भी शिकायत है।
गुजरात के सबसे बड़े सिविल अस्पताल के कान, नाक गला (ईएनटी) विभाग के डॉ. राजेश विश्वकर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस अब नए लक्षणों के साथ भी देखा जा रहा है। कुछ ऐसे मरीजों हैं जिन्हें कोरोना की पुष्टि होने से पूर्व उनकी सूंघने की क्षमता प्रभावित हुई। इनमें से कुछ का कहना है कि शुरुआत में स्वाद के बारे में भी पता नहीं चला था। हालांकि उन्होंने कहा कि इस संबंध में सिविल अस्पताल में ऐसे मरीजों का डाटा तैयार नहीं किया गया है लेकिन मरीजों ने जिस तरह से बताया है उसके आधार पर यह कहा जा सकता है कि कुछ मरीजों में वायरस के कारण सूंघने और स्वाद की प्रक्रिया बाधित होती है। यह वायरस ज्ञान तंतुओं को प्रभावित करता है। डॉ. विश्वकर्मा ने लोगों को सलाह के तौर पर कहा कि इस महामारी के बीच स्वाद और सूंघने की क्षमता प्रभावित हो तो हल्के से न लें।

स्वाद और गंध की क्षमता बेअसर होने पर चिकित्सकों के संपर्क करने की सलाह
ईएनटी विशेषज्ञ प्रोफेसर डॉ. राजेश विश्वकर्मा का कहना है कि स्वाद का आभास नहीं होने और सूंघने की क्षमता प्रभावित हो तो अपने चिकित्सक की सलाह ली जानी चाहिए। सूंघने और स्वाद का पता नहीं होने के लक्षणों पर कोरोना का टेस्ट कराए जाएं तो उनमें से बड़ी संख्या में रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी। ब्रिटेन में देखा जा रहा है कि अनेक मरीजों के अन्य लक्षण नहीं हैं सिर्फ संूंघने और स्वाद की शक्ति प्रभावित हुई है। ऐसे कई मरीजों को भी कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आ रही है। उनके अनुसार भारत में इस तरह के लक्षणों पर भी ध्यान देने की जरूरत है।

Omprakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned