Corona warriors: डेढ़ वर्षों से नहीं लिया डॉ पंकज ने कोई अवकाश, कोरोना संकमितों के इलाज में लगे

Corona warriors, Dr Pankaj Nimbalkar, patient, treatment, Mehsana

By: Uday Kumar Patel

Published: 23 May 2021, 12:07 AM IST

महेसाणा, कोरोना महामारी में चिकित्सक एवं पैरा मेडिकल टीम दिन-रात मरीजों के इलाज में लगी है। ऐसे में जिले की विसनगर के नूतन हॉस्पिटल में डॉ. पंकज निम्बालकर भी एक मिसाल बने हैं, जो पिछले डेढ़ वर्षो से कोरोना मरीजों का इलाज कर रहे है। डॉ. पंकज ने कोरोना काल में अब तक एक भी अवकाश नहीं लिया है। उनकी मां 80 वर्षीय प्रमोदिनी बेन भी गांधीनगर सिविल अस्पताल में सेवा दे चुकी है। वहीं अब मौजूदा महामारी में घर पर ही जरूरतमंद मरीजों का इलाज कर रही हैं।

डॉ. पंकज का कहना है कि सेवा का मार्ग भक्ति मार्ग से श्रेष्ठ है। वे पिछले 30 वर्षो से चिकित्सा व्यवसाय से जुड़े हुए है। वे महेसाणा, धारपुर, गांधीनगर सिविल अस्पताल में सेवा दे चुके है। फिलहाल नूतन हॉस्पिटल में सेवा दे रहे है। कोरोना की पहली एवं दूसरी लहर में उन्होंने कई मरीजों का इलाज किया। कोरोना से जब खुद संक्रमित हुए तो तीन दिनों के बाद ही अपनी ड्यूटी पर वापस आ गए। उनके सास-ससुर की कोरोना से मौत हो चुकी है।
डॉ पंकज बताते है कि कोरोना के इस दौर में जिला कलक्टर एवं सांसद शारदा पटेल का अच्छा ज्यादा सहयोग मिला। लोगों का इलाज करना तो हमारा धर्म है और इससे पीछे नहीं हट सकते है। चिकित्सकों को ईश्वर ने मानव सेवा करने का यह अवसर दिया है। उन्होंने आमजन से अपील की है कि हमें कोरोना को हराना है तो मास्क ,सेनेटाइजर का समय समय पर उपयोग एवं सोशल डिस्टेंसिंग का ख्याल रखना होगा।

Uday Kumar Patel Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned