81 लाख की धोखाधड़ी में पांच वर्ष से फरार दंपती गिरफ्तार

राजकोट में ड्राइफू्रट के व्यापारी से

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 24 Jul 2018, 11:30 PM IST

राजकोट. शहर में ड्राइफ्रूट के एक व्यापारी से पांच वर्ष पहले 81 लाख की धोखाधड़ी कर फरार हुए दंपती को क्राइम ब्रांच की टीम ने वापी से गिरफ्तार किया है।
पुलिस सूत्रों के अनुसार शहर में पेडक रोड निवासी व ड्राइफू्रट के व्यापारी जेविन नागजी सावलिया व जितेश उर्फ जितु लालका ने शहर में संत कबीर रोड पर वर्ष 2013 में काजू, बादाम सहित ड्राइफ्रूट का गोदाम लेकर साझेदारी में कारोबार शुरू किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार शहर में स्टार प्लाजा में दोनों के कार्यालय थे और धनराशि का लेन-देन भी कार्यालय से किया जाता था।
पुलिस सूत्रों के अनुसार जेविन ने एलएलबी की परीक्षा के लिए कारोबार से आठ दिन छुट्टी ली। उस समय मौके का फायदा उठाकर जितेश ने पत्नी दमयंती उर्फ राधा के साथ मिलकर गोदाम से 81 लाख रुपए के ड्राइफ्रूट बेचे और राशि लेकर फरार हो गए। पुलिस सूत्रों के अनुसार जेविन ने प्रद्युमन नगर पुलिस थाने में उस समय मामला दर्ज करवाया। पुलिस सूत्रों के अनुसार पांच वर्ष से फरार दंपती के बारे में मुखबिर से सूचना मिलने पर सहायक पुलिस आयुक्त जयदीपसिंह सरवैया के निर्देश पर क्राइम ब्रांच के निरीक्षक एच.एन. गढ़वी के निर्देशन में उप निरीक्षक आर.सी. कानमिया के नेतृत्व में एक टीम वापी पहुंची।
पुलिस सूत्रों के अनुसार वापी में कोपरोली रोड के पीछे जलाराम नगर में सनराइज सोसायटी में रहने वाले जितेश उर्फ जितु उर्फ ज्योतिष लालका व पत्नी दमयंती उर्फ राधा को गिरफ्तार किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार पूछताछ में दोनों ने धोखाधड़ी के बाद महाराष्ट्र के मुंबई, नासिक, भिवंडी, गुजरात के कच्छ-भुज, वलसाड सहित अलग-अलग स्थानों पर ठहरकर ज्योतिष का काम करने और मुंबई में बीयर बार-क्लब में राशि उड़ाने का खुलासा किया। पुलिस सूत्रों के अनुसार पूछताछ में दोनों ने धोखाधड़ी के बाद महाराष्ट्र के मुंबई, नासिक, भिवंडी, गुजरात के कच्छ-भुज, वलसाड सहित अलग-अलग स्थानों पर ठहरकर ज्योतिष का काम करने और मुंबई में बीयर बार-क्लब में राशि उड़ाने का खुलासा किया।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned