जीपीसीबी के नोटिस के पांच घंटे में क्रशर प्लांट आरंभ

बर्ड फ्लू की दहशत : एक महीने से स्लॉटर हाऊस में बड़ी संख्या में पड़े मृत पशुओं की दुर्गंध से परेशान हैं लोग

 

By: Rajesh Bhatnagar

Updated: 09 Jan 2021, 12:46 AM IST

वडोदरा. शहर के गाजरावाडी क्षेत्र स्थित स्लॉटर हाऊस (हड्डी खाना) के तौर पर पहचान रखने वाले बायो गैस प्लांट परिसर में पिछले एक महीने से बंद क्रशर प्लांट के कारण बड़ी संख्या में पड़े मृत पशुओं की दुर्गंध से लोग परेशान हैं। बर्डफ्लू की दहशत के चलते गुजरात प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (जीपीसीबी) की ओर से नोटिस जारी करने के मात्र 5 घंटे बाद क्रशर प्लांट चालू कर दिया गया।
सूत्रों के अनुसार लोगों की ओर से की गई शिकायत और स्वयंसेवी संगठनों (एनजीओ) की ओर से की गई मांग केे बाद जीपीसीबी के दो अधिकारियों की टीम ने स्लॉटर हाऊस का निरीक्षण किया। वहां 200 से अधिक बड़े पशुओं, सैकड़ों कौओं सहित करीब एक हजार से अधिक पशुओं को मृत अवस्था में पड़े देखा।
मृत पशुओं के कंकालों के निस्तारण की कोई व्यवस्था नहीं होने के कारण दोपहर में नोटिस जारी कर वैज्ञानिक तौर पर निस्तारण करने के निर्देश दिए गए। नोटिस मिलने के मात्र पांच घंटे बाद स्लॉटर हाऊस में क्रशर प्लांट चालू कर दिया गया।
जीपीसीबी में शिकायत करने वाले दि फोर लेग्स एनजीओ के जर्शश गाय के अनुसार वर्ष 2014 से इस संबंध में मांग करने के बावजूद खुले में निस्तारण करने की लापरवाही बरती जा रही है। इस संबंध में गांधीनगर में शिकायत करने पर जीपीसीबी के अधिकारियों की टीम भेजी गई।
महानगरपालिका के एक अधिकारी का कहना है कि सब ठीक-ठाक है, ठेका दिए अभी केवल एक महीने का समय हुआ है, इसलिए काम चालू नहीं हुआ। दुर्गंध फैलने की बात गलत है, नेताओं के फोन भी महीने से नहीं आए, क्रशर मशीन तभी चालू की जाती है जब 8-10 मृत पशु एक साथ लाए जाएं।
जीपीसीबी के प्रादेशिक अधिकारी आर.बी. त्रिवेदी के अनुसार लोगों की शिकायत और एनजीओ के ज्ञापन के आधार पर जांच करवाने पर पशुओं के शव खुले में फेंककर निस्तारण करने की बात ध्यान में आने पर वडोदरा महानगरपालिका को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned