Ahmedabad News मां, मातृभाषा और मातृभूमि का कोई विकल्प नहीं है- प्रो.दुबे

CUG, Gujarat, VC Professor rama shankar dubey, Sindhi, Mother language सिंधी काव्य पठन एवं भाषण प्रतियोगिता

 

अहमदाबाद. गुजरात केन्द्रीय विश्वविद्यालय (सीयूजी) के कुलपति प्रो. रमा शंकर दुबे कहा कि मां, मातृभाषा और मातृभूमि का कोई विकल्प नहीं है। अपनी संस्कृति को मातृभाषा में ही संजोया जा सकता है। उन्होंने प्रतिभागियों और अभिभावकों से मातृभाषा सिंधी एवं अन्य मातृभाषाओं को बढ़ावा देने के लिए प्रेरित किया।
प्रो.दुबे शनिवार को अहमदाबाद के सरदारनगर में स्थित साधु वासवानी विद्यालय में गुजरात केंद्रीय विश्वविद्यालय गांधीनगर के सिंधी भाषा एवं साहित्य केन्द्र और अहमदाबाद के साधू वासवानी विद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित सिंधी काव्य पठन एवं भाषण प्रतियोगिता के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे।
विद्यालय के प्राथमिक एवं माध्यमिक स्तर के ६० विद्यार्थियों ने काव्य पाठ और भाषण प्रतियोगिता शिरकत की।
विद्यालय प्रबंध समिति के सचिव एस.के. साधवानी, प्राचार्या अनिता मोटवानी और सिंधी केन्द्र के मानद निदेशक प्रो संजीव कुमार दुबे ने भी इस मौके पर अपने विचार व्यक्त किए। दो वर्गों में आयोजित चार प्रतियोगिताओं के विजेताओं को कुलपति प्रो रमा शंकर दुबे सम्मानित किया। निर्णायक के रूप में किशोर वासवानी और हुंदराज बलवानी उपस्थित रहे।
केंद्र के मानद निदेशक प्रो. संजीव कुमार दुबे एवं विद्यालय की प्राचार्या अनिता मोटवानी ने सभी अतिथियों, प्रतिभागियों और अभिभावकों का आभार ज्ञापित किया। कार्यक्रम का संचालन शिक्षिका कमला माखीजा और अंजू गिरगिलानी ने किया।

nagendra singh rathore
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned