Curfew : यूं यात्री पहुंचे अपने घरों तक...???

Curfew, railway passengers, home, Buses, Railway station : महानगरपालिका ने रेलवे स्टेशन लगाई 200 से ज्यादा बसें, बसों से अहमदाबाद आए यात्री भटके, टैक्सी- ऑटोचालकों ने वसूला मनमाना किराया

By: Pushpendra Rajput

Published: 21 Nov 2020, 10:22 PM IST

गांधीनगर. अहमदाबाद में शनिवार और रविवार को कफ्र्यू (curfew) लगाए जाने से जहां महानगरपालिका (Municipal corporation) ने एएमटीएस बसों (AMTS) के जरिए अहमदाबाद रेलवे स्टेशन और सरदार पटेल हवाई अड्डों से रात्रियों को उनके घर तक नि:शुल्क पहुंचाया। इसके लिए अहमदाबाद रेलवे स्टेशन (Ahmedabad railway station) से दो सौ से ज्यादा बसों लगाई गई थीं। हालांकि गुजरात या उससे बाहर से बसों के जरिए अहमदाबाद आए यात्रियों को भटकना पड़ा। इन यात्रियों बस संचालकों ने अहमदाबाद के प्रवेश मार्ग पर ही उतार दिया था। जहां वडोदरा की ओर से आने वाले यात्रियों को ओढव रिंग, नारोल उतार दिया गया था तो सौराष्ट्र की ओर से से आने वाले यात्रियों को सनाथल चौकड़ी के निकट उतार दिया गया था। इसके चलते कई यात्रियों को अपने परिजनों को बुलाना पड़ा तो कइयों को निजी ऑटो या फिर टैक्सी का सहारा लेना पड़ा। इसके एवज में ऑटो और टैक्स चालकों ने मनमाना किराया वसूला। वे यात्रियों को दोनों ही तरफ का किराया देने की शर्त पर जा रहे थे। रास्ते में फंसे यात्रियों को मजबूरन दोगना किराया देना पड़ा।

वहीं अहमदाबाद रेलवे स्टेशन पर सुबह से ही यात्रियों को उनके घर पहुंचाने के लिए एएटीएम की व्यवस्था की गई थी। ऐसी दो सौ ज्यादा बसें लगाई गई थीं। एएमटीएस अधिकारी और पुलिसकर्मी हर यात्रियों को सरखेज, नारोल, थलतेज, कठवाडा, निकोल समेत इलाकों के लिए बसों में बिठाया। यहां तक एक यात्री को सरदार पटेल एयरपोर्ट जाना था तो उस अकेले यात्री को बस से पहुंचाया गया। पुलिस और एएमटीएस की इस व्यवस्था की यात्रियों ने काफी सराहना की।

22 से 24 घंटे पहले स्टेशन पहुंचे यात्री

अहमदाबाद में शनिवार और रविवार को कफ्र्यू की घोषणा होने के बाद ऐसे लोग जो शनिवार को गांव जाना चाहते थे वे शुक्रवार शाम ही घर से रवाना हो गए। ऐसे कई यात्री थे जो 20 से 24 घंटे पहले स्टेशन पहुंच गए थे। शीलज में रहने वाले गौतम पासी ने बताया कि शनिवार को साबरमती एक्सप्रेस (sabarmati express train) का टिकट था। कफ्र्यू होने के चलते परिजनों के साथ शुक्रवार शाम को ही अहमदाबाद रेलवे स्टेशन गया । 20 से 22 घंटे हो गए हैं। अब शाम को ट्रेन मिलेगी।


पुल के नीचे गुजारी रात

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर के रहने वाले इस्राइल अली, शहनाबअली, मुस्ताकअली अहमदाबाद रेलवे स्टेशन पर पहुंचे। वे नौकरी की तलाश में भुज जाने के लिए बस का इंतजार कर रहे थे। वे बताते हैं कि रात्रि को बस में नारोल में उतर गए थे, लेकिन कफ्र्यू लग गया था, तो न ही बस मिली और न ही ट्रेन मिली। पैदल ही स्टेशन तक पहुंचे थे। एक पुल के नीचे रात गुजारनी पड़ी। पैसे तो खत्म हो गए थे तो गांव से पैसे मंगाए।

Show More
Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned