Ahmedabad News केवाईसी के लिए आए फोन तो हो जाएं सावधान! नहीं तो बैंक खाता हो जाएगा खाली

Cyber crime, Fraud, KYC Fraud, Cyber crime, Ahmedabad, Gujarat, Online अहमदाबाद के एक व्यापारी को पेटीएम का केवाईसी कराने के बहाने लगाई 95 हजार की चपत

 

अहमदाबाद. अगर आपके पास भी कभी आपके क्रेडिटकार्ड या फिर पेटीएम एप्लीकेशन को चालू रखने के लिए केवाईसी (नो यॉर कस्टमर) कराने के लिए किसी का फोन आए तो सावधान हो जाएं। नहीं तो आपकी एक चूक आपको महंगी पड़ सकती है। किसी भी फोन करने वाले पर विश्वास करके उसे अपनी बैंक एकाउंट, क्रेडिटकार्ड, डेबिटकार्ड के नंबर या फिर सीवीवी नंबर की जानकारी ना दें। नहीं तो शातिर ठग आपकी गलती का फायदा उठाकर आपके बैंक खाते को खाली कर सकते हैं।
ऐसी ही एक घटना अहमदाबाद के नारणपुरा इलाके में रहने वाले व्यापारी अमित शाह के साथ हुई। अमित पैकेजिंग मटीरियल ट्रेडिंग का व्यापार करते हैं।
शातिर ठग ने अमित को फोन कर उनके पेटीएम एकाउंट की केवाईसी कराने के लिए कहा। इसके लिए ठग ने उन्हें उनके पेटीएम एकाउंट से 10 रुपए एड मनी करने को कहा। बातों में आए अमित ने 10 रुपए का ट्रांजेक्शन कर दिया। इसके बाद शातिर आरोपी ने अमित को प्ले स्टोर में जाकर क्यूएस नाम की एक एप्लीकेशन डाउनलोड करने को कहा। अमित ने बताई हुई एप्लीकेशन को डाउन लोड करने में व्यस्त रहे लेकिन वह एप्लीकेशन डाउनलोड नहीं हुई। इसी दौरान आरोपी ने अमित के बैंक खाते से नकदी पार करनी शुरू कर दी। बातों में उलझाए रखने के लिए शातिर ने अमित से दूसरा मोबाइल नंबर मांगा और उस पर बात की। और इसी दौरान अमित के बैंक खाते से एक के बाद एक करके रुपए डेबिट होने लगे।
शातिर ने कुछ ही देर में अलग अलग ट्रांजेक्शन करते हुए एक लाख नौ हजार नौ सौ ४९ रुपए पार कर दिए। ठगी का शिकार होने का एहसास होने पर अमित ने शाहीबाग स्थित साइबर क्राइम थाने में जाकर शिकायत दी और फिर बैंक में जाकर ठगी का शिकार होने की शिकायत की। जिसके चलते उनके एक बैंक खाते में 15 हजार छह सौ ३० रुपए वापस जमा हो गए, हालांकि ९५ हजार रुपए ठग ने पार कर दिए। अमित की शिकायत पर नारणपुरा पुलिस ने इस मामले में शातिर ठग के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की है।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned