कोरोना से जान गंवाने वाले ईएसआईसी बीमित के आश्रित को मिलेगी पेंशन

गुजरात में 17 लाख हैं बीमित व्यक्ति

By: MOHIT SHARMA

Published: 09 Jun 2021, 10:42 PM IST

गांधीनगर. कोरोना से जान गंवाने वाले कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ईएसआईसी) बीमित के आश्रित को पेंशन मुहैया कराई जाएगी। इसके लिए ईएसआईसी ने ईएसआईसी कोविड-19 राहत योजना के जरिए श्रमिकों के लिए अति विशेष लाभ देने की घोषणा की है। कोविड-19 महामारी में मृत्यु की घटनाओं में वृद्धि हुई है। इसके मद्देनजर ईएसआईसी योजना के तहत बीमाकृत व्यक्तियों के परिवारों की मदद के लिए यह निर्णय किया गया है। बीमाकृत व्यक्तियों के परिवार के सभी आश्रित सदस्य जो ईएसआईसी के ऑनलाइन पोर्टल में कोविड रोग के निदान से पहले से पंजीकृत हैं और बाद में जिनकी कोविड के कारण मृत्यु हो गई है, वे मासिक पेंशन के समान हितलाभ और उसी वेतनमान में प्राप्त करने का हकदार होंगे।
बीमाकृत व्यक्ति, जो पात्रता शर्तों को पूरा करते हैं और कोविड के कारण मृत्यु हो गई है, उनके आश्रित को औसत दैनिक मजदूरी के 90 फीसदी की दर से मासिक भुगतान जीवन पर्यंत किया जाएगा। यह योजना 24 मार्च से दो वर्ष की अवधि के लिए प्रभावी होगी ।
ईएसआईसी क्षेत्रीय कार्यालय के क्षेत्रीय निदेशक और अपर आयुक्त रत्नेश गौतम के अनुसार मृतक बीमाकृत व्यक्ति ईएसआईसी ऑनलाइन पोर्टल पर कोविड -19 का निदान होने से कम से कम तीन महीने पहले पंजीकृत होना चाहिए।
मृतक बीमाकृत व्यक्ति की ओर से कोविड-19 से निदान होने की तिथि पर रोजगार में होना चाहिए और कम से कम 70 दिनों की अवधि के लिए अंशदान का भुगतान किया गया हो अथवा मृतक बीमाकृत व्यक्ति के संबंध में कोविड-19 के निदान (जिसके कारण मृत्यु हुई) से अधिकतम एक वर्ष पूर्व तक की अवधि में भुगतान किया हो ।
गुजरात में 17 लाख बीमित व्यक्ति हैं जिन्हें ईएसआईसी द्वारा सेवाएं दी जा रही है। गुजरात में ईएसआईसी अस्पतालों को इस महामारी से लडऩे के लिए कोविड समर्पित अस्पताल घोषित किया गया।

COVID-19
MOHIT SHARMA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned