थिएटरों में फिल्म रिलीज नहीं होने की पूर्व घोषणा के बावजूद कई जगहों पर उत्पात

प्रदेश के एक भी थिएटर में फिल्म ‘पद्मावत’ रिलीज नहीं होने के बावजूद गुरुवार को बंद का मिला-जुला असर देखा गया। राज्य में कुछ जगहों पर विरोध प्रदर्शन कर

By: मुकेश शर्मा

Published: 26 Jan 2018, 07:51 PM IST

अहमदाबाद।प्रदेश के एक भी थिएटर में फिल्म ‘पद्मावत’ रिलीज नहीं होने के बावजूद गुरुवार को बंद का मिला-जुला असर देखा गया। राज्य में कुछ जगहों पर विरोध प्रदर्शन कर लोगों ने उपद्रव भी मचाया। जबकि करणी सेना ने राज्य सरकार के साथ बैठक के बाद बंद नहीं रखने की घोषणा की थी। गृहमंत्री ने भी आभार जता दिया था। हालांकि फिर भी कुछ राजपूत संगठनों की ओर से भारत बंद के ऐलान को देखते हुए राज्यभर में पुलिस बंदोबस्त किया गया था।

अहमदाबाद सहित राज्य में बंद और तोडफ़ोड़ से डरे कुछ मॉल्स व मल्टीप्लेक्स एहतियात के तौर पर बंद रखे गए। अहमदाबाद का राणिप एस.टी. बस अड्डा गुरुवार को संपूर्ण रूप से बंद रहा। उत्तरगुजरात के रूटों की एस.टी. सेवा बंद करने का निर्णय लिया गया। गांधीनगर, महेसाणा समेत कुछ जगहों पर पुलिस व भीड़ के बीच झड़प भी हुई। स्कूलों में विद्यार्थियों की उपस्थिति कम रही।

पुलिस सब इंस्पेक्टर के घायल :

राजधानी गांधीनगर में ‘ध’ सेक्टर पांच में में गुरुवार दोपहर को पुलिस और प्रदर्शनकारियों के टकराव में एक पुलिस सब इंस्पेक्टर के घायल होने की खबर हैं। कुछ लोगों को रोड पर अवरोध पैदा करने से रोकने पर यह टकराव हुआ। उधर, महेसाणा में मोढेरा रोड पर प्रदर्शन कर रहे लोगों को काबू में करने के लिए पुलिस को दो टियर गैस के सेल छोडऩे पड़े। इसके बाद यहां आरएएफ के जवान उतारे गए। बनासकांठा जिले के इकबालगढ़ में राजपूत समाज की रैली निकाली गई। उस समय दुकानों को बंद करा रहे कुछ लोगों के गिरफ्तार किए जाने की खबर है। उधर, पालनपुर पुलिस ने भी मोटी बाजार क्षेत्र में कुछ लोगों को गिरफ्तार किया।

वडोदरा, सुरेन्द्रनगर, अमरेली सौराष्ट्र में छुटपुट वाकये : वडोदरा, सुरेन्द्रनगर, अमरेली में भी इस तरह छुटपुट वारदातें हुईं। कुछ जगहों पर सडक़ों पर टायर जला कर भी प्रदर्शन किया गया। सौराष्ट्र में भी बंद का मिला जुला असर रहा। राजकोट में दुकानें बंद कराने जा रहे दो दर्जन से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया। जामनगर के खंभालिया, ध्रोल, लालपोर पूरी तरह बंद रहे। साबरकांठा जिले में भय व नुकसान की आशंका को देखते हुए जनता कफ्र्यू सा माहौल देखा गया।

जामनगर के लालपुर शहर में अधिकांश बाजार बंद दिखे। यही हालत ध्रोल में रहा। राजकोट भी स्कूल-कॉलेज में विद्यार्थी कम दिखे। कुछ शैक्षणिक संस्थाएं बंद रही। सायला, ध्रांगध्रा, लींबडी में भी बंद का असर रहा। मोरबी के मार्केटिंग यार्ड की नीलामी बंद रखी गई। जूनागढ़ के माणावदर में बंद सफल रहा। यहां राजपूत समाज ने रैली निकालने के बाद तहसीलदार को ज्ञापन भी दिया गया। भुज में बस स्टेशन समेत अधिकांश बाजार बंद रहे। भचाऊ, रापर खेड़ा के खठलाल में भी बंद का असर रहा।

भुज में दुकानें बंद, रैली निकाली

भुज. शहर में शांतिपूर्ण माहौल में बंद सफल रहा। शहर के अस्पताल रोड, स्टेशन रोड जैसे क्षेत्रों में दुकानें बंद रखी गई। दूसरी ओर, करणी सेना की ओर से भुज शहर में रैली निकाली गई और व्यापारियों से बंद की अपील की गई। एसटी बसों के कुछ मार्ग रद्द किए गए।

नुकसान के डर से जनता कफ्र्यू

साबरकांठा जिले में भी बंद का असर दिखाई दिया। भय व नुकसान के डर से लोग जनता कफ्र्यू में जुड़े और बंद को सफल बनाया, जबकि हिम्मतनगर, ताजपुरकुई व तलोद तहसील के दादरडा, खेड़ब्रह्मा-अंबाजी हाईवे स्थित खेरोज-हडाद रोड पर टायर जलाकर यातायात बाधित करने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस ने प्रयास को असफल बना दिया। उधर, खेडब्रहमा-अंबाजी हाईवे पर खेरोज-हडाद के बीच अज्ञात लोगों ने टायर जलाकर यातायात जाम किया। बंद के बीच हिम्मतनगर सहित विभिन्न स्थलों पर सरकारी कार्यालय व बैंक खुले रहे।

आणंद में बंद बेअसर

आणंद. शहर में बंद का असर दिखाई नहीं दिया, लेकिन लोटिया भागोळ क्षेत्र में कुछ व्यापारियों ने व्यवसाय बंद रखकर बंद के ऐलान को समर्थन दिया। उधर, तारापुर एवं ओड गांव पूरी तरह बंद रखे गए। वल्लभविद्यानगर में छोटे बाजार बंद रहे। इसके अलावा जिले के अन्य क्षेत्रों में बंद का असर दिखाई नहीं दिया।

जामनगर में अफरा-तफरी :

जामनगर के खोडियार कॉलोनी में बाजार बंद कराने पर अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया। यहां सुबह बाजार खुले। बाद में करणीसेना व राजपूत सेना की ओर से बाजार बंद कराया गया। जीजी अस्पताल के सामने स्थित दुकानों के एसोसिएशनों नेे बंद का समर्थन किया।

पालनपुर में बंद सफल :

पालनपुर. महाकाल सेना, करणी सेना, विश्व हिन्दू परिषद, बजरंग दल सहित अनेक संगठनों के कार्यकर्ता गुरुनानक चौक में एकत्रित हुए और नारेबाजी करते हुए फिल्म का विरोध किया। बाद में सिटीलाइन रोड,शिमला गेट, दिल्ली गेट, रेलवे स्टेशन मार्ग, बस स्टैंड मार्ग पर दुकानें बंद कराई गई।

पाटण में एसटी बंद, ५० हिरासत में :

पाटण. एसटी सेवा बंद रखी गई। बसों को डिपो के अंदर ही रखा गया। उधर, राधनपुर में बंद कराने के लिए निकले ५० लोगों को हिरासत में ले लिया।

वडोदरा में टायर जलाए, रास्ता रोका

वडोदरा-हालोल रोड पर आमलीयारा गांव के निकट राजपूत संगठनों की ओर से टायर जलाए और चक्काजाम का प्रयास किया गया। जिसके चलते करीब चार किलोमीटर तक जाम हो गया। उधर, सावली तहसील के मंजुसर के निकट भी मुख्य मार्गों पर चक्काजाम किया गया। दूसरी ओर, फिल्म के विरोध में राजपूत संगठन की ओर से फतेगंज स्थित महाराणा प्रताप की प्रतिमा के निकट धरना दिया गया।

मुकेश शर्मा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned