चार और विकास योजनाओं को मुख्यमंत्री ने दी मंजूरी

Development scheme, Chief minister, urban development authority: बेचराजी और लिंबड़ी क्षेत्र विकास प्राधिकरण और नवसारी एवं बारडोली शहरी विकास प्राधिकरण की विकास योजना मंजूर

By: Pushpendra Rajput

Published: 20 Sep 2020, 09:53 PM IST

गांधीनगर. मुख्यमंत्री विजय रूपाणी (Chief minister) ने राज्य के महानगरों (city) और बड़े शहरों के साथ-साथ कस्बों व गांवों के भी योजनाबद्ध विकास के जरिए पूर्ण विकास (development) का लक्ष्य रखा है। इस मकसद से उन्होंने कस्बों तथा क्षेत्र विकास प्राधिकरण (development authority) की विकास योजना (development plan) को अंतिम स्वरूप देकर विकास को केंद्र में रखा है। मुख्यमंत्री (Chief minister) ने राज्य में ऐसे दो क्षेत्र विकास प्राधिकरणों और दो शहरी विकास प्राधिकरणों सहित एक ही दिन में एक साथ और चार डवलपमेंट प्लान को मंजूरी दी है।

उत्तर गुजरात के तीर्थ क्षेत्र बेचराजी जैसे ग्रामीण क्षेत्र को शहर की भौतिक सुविधाएं मुहैया कराकर उसके आसपास मांडल-बेचराजी विशेष निवेश क्षेत्र के समकक्ष विकास की राह पर आगे बढऩे के उद्देश्य से बेचराजी के पहले विकास नक्शे को मंजूरी दी है। इस मंजूरी के चलते बेचराजी क्षेत्र विकास प्राधिकरण के अंतर्गत बेचराजी गांव के लगभग 8.78 वर्ग किलोमीटर राजस्व क्षेत्र का विकास होगा।

बेचराजी की इस विकास योजना में रिहायशी, वाणिज्यिक, औद्योगिक और पार्किंग सहित सार्वजनिक उद्देश्य के लिए 9.00 मीटर, 12.00 मीटर, 24.00 मीटर, 36.00 मीटर और 90.00 मीटर चौड़ाई वाली सड़कों के आयोजन का सुझाव है। जिससे आगामी वर्षों में बेचराजी की एक अलग पहचान उभरकर सामने आएगी।
वहीं लिंबड़ी क्षेत्र विकास प्राधिकरण की संशोधित योजना (रिवाइज्ड प्लान) को भी मंजूरी दी है। राजशाही दौर के शहर लिंबड़ी के लगभग 13.40 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र के लिए विभिन्न जोनिंग एवं गांव के बाहर नियोजित क्षेत्र में ग्रिड पैटर्न में आयोजन किया गया है, जिसमें 12 से लेकर 40 मीटर तक की अलग-अलग चौड़ाई की सड़कें प्रस्तावित की गईं हैं। लिंबडी जैसे छोटे शहर में भी भविष्य में नगर नियोजन स्कीम के जरिए और भी सुनियोजित विकास करने के उद्देश्य से इस विकास नक्शे में डीपी का कोई आरक्षण प्रस्तावित नहीं है। वहीं सौराष्ट्र की ओर जाने वाले राष्ट्रीय राजमार्ग पर शहर लिंबड़ी के संशोधित विकास की प्राथमिक अधिसूचना को जारी करने को मुख्यमंत्री ने मंजूरी दी है।
मुख्यमंत्री ने नवसारी और विजलपोर तथा आसपास के 15 गांवों समेत 71.37 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र के लिए गठित नवसारी शहरी विकास प्राधिकरण (नूडा) की प्रथम विकास योजना को भी मंजूरी देने का निर्णय किया है।

इस विकास योजना में मौजूदा सड़कों की रीसर्फेसिंग, प्रस्तावित नई सड़कों और स्ट्रीट लाइट सहित बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने के लिए आगामी 10 वर्ष में 655 करोड़ रुपए का खर्च होने का अनुमान है।
बारडोली शहर तथा आसपास के 16 गांवों के कुल 65.78 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र जिसमें बारडोली नगरपालिका का 6.67 वर्ग किमी तथा अन्य संबद्ध गांवों के क्षेत्रों के लिए बारडोली शहरी विकास प्राधिकरण (बूडा) का गठन राज्य सरकार द्वारा किया गया है। मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने इस योजना के संबंध में भी त्वरित कार्यवाही कर विकास नक्शे को मंजूरी देते हुए नई दिशा प्रदान की है।
रूपाणी ने बूडा में शामिल हरेक गांवों को सड़कों से जोडऩे के लिए संबंधित गांवों की आबादी का आंकलन और मौजूदा भौतिक सुविधाओं की उपलब्धता आदि के अनुसार 18.00 से 30.00 मीटर चौड़ाई वाली विभिन्न सड़कों सहित 60.00 मीटर के रिंग रोड के आयोजन को मंजूरी दी है। विकास योजना में प्रस्तावित सड़क, बिजली और पानी सहित बुनियादी सुविधाओं तथा सार्वजनिक सेवाओं से संबंधित 10 वर्ष के कार्यों पर 425 करोड़ रुपए खर्च होने का अनुमान लगाया गया है।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned