अहमदाबाद के पॉश इलाके में डबल मर्डर, बुजुर्ग दंपती की गला रेंतकर हत्या

बुजुर्ग दंपती से पड़ोसी की कुछ देर पहले ही हुई थी बात, क्राइम ब्रांच की टीमों ने सीसीटीवी खंगालने किए शुरू, सिक्योरिटी गार्ड ने चार लोगों को भागते देखा

By: MOHIT SHARMA

Published: 05 Mar 2021, 09:59 PM IST

अहमदाबाद . शहर के पॉश सोला थाना क्षेत्र की शांतिवन पैलेस में हुई बुजुर्ग दंपती अशोक एवं ज्योत्सना पटेल की हत्या से सोसायटीवासी भयभीत हैं। पड़ोसी स्तब्ध हैं। ऐसा इसलिए है क्योंकि हत्या से चंद मिनट पहले ही उनके पड़ोस में रहने वाली मनीषाबेन से अशोक पटेल और ज्योत्सनाबेन दोनों ही की बात हुई थी।
पुलिस को सबसे पहले इसकी सूचना देने वालीं मनीषाबेन ने संवाददाताओं को बताया कि वह हर दिन सुबह जब टहलने जाती थीं और लौटती थीं तो अशोकभाई कार की सफाई करते और गाना बजाते दिखाई देते थे। आज भी वह कार साफ करते मिले थे, लेकिन गाना नहीं बजा रहे थे। इस बारे में उन्होंने उनसे पूछा भी था। तो उन्होंने कहा कि मच्छर आ जाते हैं।
उसके बाद उन्होंने ज्योत्सना काकी से चकरी बनाने के बारे में भी पूछा, तो उन्होंने कहा कि तुम नहा लो फिर बनाएंगे। उसके बाद मनीषाबेन नहाने चली गईं। नहाकर निकलीं कि चौकीदार ने कहा कि अशोकभाई के घर कुछ हुआ है। चौकीदार ने रसोई की खिडक़ी से देखा तो अंदर सामान बिखरा पड़ा था। चौकीदार के चिल्लाकर बुलाने पर मनीषाबेन घर में गईं तो देखा कि नीचे बेडरूम में अशोकभाई खून से लथपथ हालत में पड़े थे, जबकि ज्योत्सनाबेन सीडिय़ों पर पड़ी थीं। मनीषाबेन ने कहा कि उनके अशोकभाई से घर जैसे
संबंध थे।

होली पर बेटे के पास जाने वाले थे दुबई
प्राथमिक जांच में पता चला कि अशोकभाई प्लाइवुड का व्यापार करते थे फिलहाल निवृत्त जीवन बिता रहे थे। उनका पुत्र हेतार्थ दुबई में रहता है। लॉकडाउन के समय वह दोनों भी पुत्र के साथ ही दुबई में थे। उनकी पुत्री मेघा अहमदाबाद में ही नारणपुरा इलाके में रहती है। उसे सूचना मिली तो वह भी मौके पर पहुंच गई। परिजनों का रो रोकर बुरा हाल है। सूत्रों का कहना है कि बुजुर्ग दंपती की होली पर दुबई पुत्र के पास जाने की तैयारी थी।

कार को ले जाने की भी कोशिश
पुलिस की जांच में सामने आया कि शांतिवन पैलेस बंगलो के सिक्योरिटी गार्ड जयंतीभाई भरवाड़ ने यह घटना हुई उसके बाद चार लोगों को अशोकभाई के बंगले से बाहर निकलते देखा। पहले तो ये धीरे धीरे बाहर निकलने फिर बाद में तेजी से दौड़ते हुए बाहर निकल गए। शंका होने पर सिक्योरिटी गार्ड ने अशोकभाई के घर जाकर देखा तो उनकी कार का दरवाजा खुला था। घर का मुख्य दरवाजा भी टूटा हुआ था। अशोकभाई भी रूम में लहूलुहान हालत में पड़े थे यह देख चौकीदार पड़ोसी हर्षदभाई को बुलाने चला गया। सोसायटी के चेयरमैन को बुलाया उन्होने ने भी इस घटना के बारे में पुलिस को सूचना दी। अशोकभाई की कार को लेकर जाने की कोशिश भी आरोपियों की ओर से की गई होने की आशंका है।

सुरक्षा पर सवाल
शहर में इस घटना ने एक बार फिर से बुजुर्गों की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। इससे पहले शहर के दाणीलीमडा इलाके में एक एनआरआर बुजुर्ग के घर में घुसकर उनकी पिटाई कर लूट की वारदात को अंजाम दिया जा चुका है।

MOHIT SHARMA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned