ई-गुजकोप एप्लीकेशन को देशभर में मिला पहला पुरस्कार

E-Gujcop, application, prize, good governece, nationalist, online : गुड गवर्नन्स में गुजरात ने राष्ट्रीयस्तर पर बनाई पहचान

By: Pushpendra Rajput

Published: 18 Dec 2020, 07:38 PM IST

गांधीनगर. गुजरात (Gujarat) के नागरिकों को सुरक्षा (safty) के अलावा घर के निकट बेहतर सुविधाएं मुहैया कराने के लिए गुजरात सरकार (Gujarat government) ने गुड गवर्नन्स (good governance) को प्राथमिकता दी है। गुड गवर्नन्स क्षेत्र में गुजरात ने राष्ट्रीयस्तर पर एक अलग पहचान बनाई है। देश के सभी राज्यों और केन्द्रशासित प्रदेशों में संचालित सीसीटीएनएस एप्लीकेशन (application) के तहत गुजरात के गृह विभाग ने ई-गुजकोप एप्लीकेशन (E-Gujcop application) ने पहला स्थान हासिल गुजरात की अपनी अलग पहचान दिलाई है। हाल ही में दिल्ली में आयोजित ऑनलाइन (online) समारोह में केन्द्रीय गृहमंत्री जी. किशनरेड्डी ने गुजरात को यह अवार्ड प्रदान किया।

राज्य के गृहमंत्री प्रदीपसिंह जाड़ेजा ने गृह विभाग के अधिकारियों को बधाई देते कहा कि गुजरात सरकार की दूरदर्शिता और समयबद्ध आयोजन से यह सफलता मिली है। राज्य के नागरिकों को बेहतर सुरक्षा और जनहित योजना के लाभ ई-गुजकोप के सिटीजन पोर्टल (citizen portal) और सिटीजन फस्र्ट मोबाइल एप्लीकेशन (mobile appilcation) के जरिए पुलिस की कई सेवाएं नागरिकों को घर बैठे ऑनलाइन उपलब्ध कराई जा रही हैं, जिसमें पुलिस स्टेशन में पंजीकृत एफआईआर की कॉपी, लापता व्यक्ति की जानकारी, लावारिस शव की सूचना, किराएदार, घरेलू नौकर, वरिष्ठ नागरिकों के पंजीकरण, नागरिक आपत्ति प्रमाणपत्र, पुलिस वेरीफिकेशन की सेवाएं उपलब्ध कराना है।

इस कांफ्रेंस में पुलिस महानिरीक्षक एससीआरबी की ओर से ई-गुजकोप की विभिन्न जानकारी उपलब्ध कराई गई है। ई-गुजकोप प्रोजेक्ट के तहत राज्य के सभी 725 पुलिस स्टेशन और अन्य 1348 पुिलस कार्यालय मौजूदा समय में कार्यरत हैं। ई-गुजकोप प्रोजेक्ट के तहत सभी पुलिस स्टेशन कम्प्यूटर, प्रिन्टर और कनेक्टीविटी आवंटित की गई हैं। ई-गुजकोप प्रोजेक्ट के तहत राज्य में पंजीकृत सभी एफआईआर 24 घंटे ऑनलाइन अपलोड की जाती हैं। सभी राज्य एवं केन्द्रशासित प्रदेशों में संचालित सीसीटीएनएस एप्लीकेशन का प्रत्येक माह के अंत में प्रगति डेशबोर्ड के तहत आंकलन किया जाता है। 31 मई, 2018 से डेशबोर्ड में गुजरात लगातार प्रथम स्थान पर रहा है।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2019-20 में ई-गुजकोप के विस्तृतीकरण पुलिस चौकी और आउटपोस्ट तक ग्रामीण इलाकों में सभी लोगों को गुजरात पुलिस की सेवाएं मिल रही हैं। गुजरात पहला ऐसा राज्य हैं, जहां यह एप्लीकेशन पुलिस चौकी, आउट पोस्ट में कार्यरत हैं। ई-गुजकोप के इन्ट्रोपेरेबल क्रिमिनल जस्टिस सिस्टम के साथ जुड़ा है। ई-गुजकोप से एफआईआर और चार्जशीट यूएस से ऑनलाइन कोर्ट में भेजा जा रही है।

Show More
Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned