ज्ञान सेतु से विद्यार्थी कर सकेंगे पढ़ाई

विशेषज्ञों की तैयार सामग्री मुफ्त मिलेगी विद्यार्थियों को

By: Pushpendra Rajput

Published: 13 Jun 2021, 08:45 PM IST

गांधीनगर. राज्य के शिक्षा विभाग ने पहली से दसवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों के लिए 'ज्ञान सेतु-ब्रिज कोर्स क्लास रेडीनेसÓ कार्यक्रम प्रारंभ किया है, जो एक माह तक अर्थात् 10 जुलाई तक तक चलेगा। इसके मद्देनजर विशेषज्ञों की ओर से तैयार अध्ययन सामग्री सरकारी स्कूल के इन विद्यार्थियों को मुफ्त उपलब्ध होगी।

यह अध्ययन सामग्री कोई भी विद्यार्थी डाउनलोड कर सके इसके लिए सामग्री शिक्षा विभाग की वेबसाइट पर भी उपलब्ध कराई जाएगी। विद्यार्थियों के मार्गदर्शन के लिए अहमदाबाद दूरदर्शन केंद्र डीडी गिरनार पर 10 जुलाई के दौरान इससे संबंधिक एपिसोड प्रसारित किए जाएंगे और शिक्षक विद्यार्थियों को प्रत्यक्ष या परोक्ष मार्गदर्शन प्रदान करेंगे।

गौरतलब है कि मुख्यमंत्री विजय रूपाणी के पथप्रदर्शन में शिक्षा विभाग ने प्राथमिक शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार पर विशेष ध्यान केंद्रित करते हुए मिशन विद्या प्रारंभ किया है। इसके अलावा शिक्षक-विद्यार्थी की ऑनलाइन हाजिरी, होम लर्निंग और आवधिक मूल्यांकन परीक्षण जैसे नए प्रोजेक्ट पिछले दो वर्ष के दौरान अपनाए गए हैं। इन नवीनतम प्रोजेक्ट्स और शिक्षा की अन्य योजनाओं की निगरानी के लिए कमांड एंड कंट्रोल सेंटर कार्यरत हुआ है।
गौरतलब है कि कोरोना महामारी के विपरीत हालात में गत वर्ष विद्यार्थियों ने ऑनलाइन पढ़ाई की है। ऐसे में, मुख्यमंत्री ने यह विश्वास जताया है कि नए वर्ष में नई कक्षा का पाठ्यक्रम शुरू करने से पहले पिछले वर्ष के पाठ्यक्रम के महत्वपूर्ण विषयों को दोहराकर उसे अच्छी तरह से समझाने के बाद ही अगली कक्षा की पढ़ाई शुरू कराने में यह ज्ञान सेतु अहम कार्यक्रम साबित होगा। विद्यार्थियों के मार्गदर्शन के लिए अहमदाबाद दूरदर्शन केंद्र डीडी गिरनार पर 10 जुलाई के दौरान इससे संबंधिक एपिसोड प्रसारित किए जाएंगे और शिक्षक विद्यार्थियों को प्रत्यक्ष या परोक्ष मार्गदर्शन प्रदान करेंगे। इस प्रोजेक्ट को तैयार करने वाली कंपनी गुजरात एजुकेशन टेक्नोलॉजी लिमिटेड की ओर से जी-शाला और ज्ञान सेतु के कार्यों का प्रेजेंटेशन मुख्यमंत्री और महानुभावों के समक्ष प्रस्तुत किया गया।

घर बैठे पढ़ाई के लिए जी-शाला प्रोजेक्ट

कोरोना संकट काल में 'स्कूल बंद, शिक्षा नहींÓ के ध्येय मंत्र के साथ विद्यार्थियों की घर बैठे पढ़ाई यानी होम लर्निंग के अभिनव प्रोजेक्ट- जी-शाला (गुजरात-स्टूडेंट होलिस्टिक एडप्टिव लर्निंग एप) का भी प्रारंभ किया गया। इस प्रोजेक्ट में पहली कक्षा से लेकर बारहवीं तक के विद्यार्थियों के लिए ई-कंटेंट और लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम तैयार किया गया है। योजना के अनुसार कक्षा पहली से बारहवीं तक के स्मार्ट फोन या टैबलेट रखने वाले विद्यार्थी होम लर्निंग के अंतर्गत लर्निंग मैनेजमेंट सिस्टम जी-शाला एप और ई-कंटेंट के जरिए शिक्षा प्राप्त करेंगे। ई-कंटेंट में एनिमेटेड वीडियो, प्रयोगों का सिमुलेशन यानी अनुकरण, स्व अध्ययन, स्व मूल्यांकन मॉड्यूल और संदर्भ-पूरक सामग्री उपलब्ध कराई गई है। इन सुविधाओं को विद्यार्थी किसी भी डिवाइस या प्लेटफॉर्म से एक्सेस कर सकेंगे।

Pushpendra Rajput Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned