आंदोलन में किसानों को बदनाम करने के प्रयत्न : इंद्रेश कुमार

राजनीतिक चंगुल में फंसकर बना अलगाववादी तत्वों का अड्डा

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 09 Jan 2021, 11:56 PM IST

वडोदरा. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य व मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संरक्षक इंद्रेश कुमार ने कहा कि किसान आंदोलन में किसानों को बदनाम करने के प्रयत्न किए जा रहे हैं। यहां राष्ट्रीय मुस्लिम मंच की ओर से कोरोना वॉरियर्स के सम्मान समारोह के बाद पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने यह बात कही।
उन्होंने कहा कि किसानों का आंदोलन पंजाब प्रेरित है और संवाद से इसका समाधान संभव है। केन्द्र सरकार की ओर से किसान नेताओं के साथ 8 बार चर्चा की जा चुकी है लेकिन, फिलहाल किसान आंदोलन राजनीतिक चंगुल में फंस गया है। इतना ही नहीं, अलगाववादी तत्वों का अड्डा बन गया है और किसानों को बदनाम करने के प्रयत्न किए जा रहे हैं।

18 वर्ष पहले हुई मंच की स्थापना

आरएसएस के प्रचारक इंद्रेश कुमार ने कहा कि 18 वर्ष पहले मुस्लिम राष्ट्रीय मंच की स्थापना की गई। मुस्लिम समाज की ओर से भी अयोध्या में राम मंदिर के पक्ष में मांग की गई और 8 लाख मुस्लिम लोगों ने हस्ताक्षरकर राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा था।
कश्मीर के अलगावादी नेताओं पर कड़ी टिप्पणी करते हुए उन्होंने कहा कि चीन और पाकिस्तान के पक्ष में रहना हो तो ऐसे नेताओं को वहीं जाकर रहना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुस्लिम नेता ओवेसी की टीम मुस्लिम समाज के लिए खतरे के समान है। ओवेसी की टीम को भाजपा की टीम बताने वाली कांग्रेस पर पलटवार करते हुए इंद्रेश कुमार ने कहा कि कांग्रेस की नीति के समान ओवेसी की टीम भी मुस्लिम समाज को गुमराह कर रही है, यह मुस्लिम समाज के लिए खतरा है।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned