सामाजिक अस्पृश्यता दूर करने को अंतरजातीय विवाह पर जोर

रामदास बोले-समाज का कलंक है अस्पृश्यता...
जूनागढ़ में केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता राज्यमंत्री रामदास आठवले ने दी कल्याणकारी योजनाओं की जानकारी

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 03 Mar 2019, 11:38 PM IST

जूनागढ़. केंद्रीय सामाजिक न्याय व अधिकारिता मंत्री रामदास आठवाले ने अस्पृश्यता को समाज का कलंक बताते हुए सामाजिक अस्पृश्यता दूर करने व अंतरजातीय अंतर कम करने के लिए अंतरजातीय विवाह करने पर जोर दिया है।
यहां सर्किट हाऊस में पत्रकारों को भारत सरकार के सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग की ओर से अमल में लाई जा रही विविध कल्याणकारी योजनाओं की रविवार को जानकारी देते हुए उन्होंने कहा कि अंतरजातीय विवाहों को प्रोत्साहन देने के लिए सरकार की ओर से 2.50 लाख रुपए की सहायता दी जाती है।
उन्होंने कहा कि देश में बड़ी मात्रा में जनसंख्या का प्रतिनिधित्व सामाजिक न्याय व अधिकारिता विभाग करता है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति व जनजाति की रक्षा के लिए संसद में एट्रोसिटी एक्ट 1989 पारित हुआ और मौजूदा सरकार ने इसे और असरकारक बनाया है। उन्होंने सीमा पार से हो रही आतंकी प्रवृत्ति की निंदा करते हुए राष्ट्रकार्य के लिए शहीद वीरों की शहादत को याद करते हुए राष्ट्रीय एकता पर जोर दिया। जिला कलक्टर सौरभ पारगी, जिला पुलिस अधीक्षक सौरभसिंह, समाज कल्याण विभाग के उप निदेशक आदि भी मौजूद थे।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned