युवा, वृद्धों व महिलाओं में उत्साह

वडोदरा महानगर पालिका के 19 वार्ड की 76 सीटों के लिए 1255 मतदान केन्द्रों पर 280 प्रत्याशियों के चयन के लिए हुआ मतदान

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 21 Feb 2021, 11:27 PM IST

वडोदरा. वडोदरा महानगर पालिका के 19 वार्ड की 76 सीटों के लिए 1255 मतदान केन्द्रों पर 280 प्रत्याशियों के चयन के लिए रविवार को मतदान हुआ। कुल 7266 मतदान अधिकारियों-कर्मचारियों के अलावा सुरक्षा व्यव्स्था बनाए रखने के लिए 4 हजार पुलिसकर्मी तैनात किए गए। वृद्धों व महिलाओं के अलावा बड़ी संख्या में युवा मतदाताओं ने भी मतदान किया।
समाज सुरक्षा अधिकारी के अनुसार वृद्ध और दिव्यांग मतदाताओं के लिए कुल 155 व्हील चेयर की व्यवस्था की गई और 125 से अधिक स्वयंसेवकों ने सेवा दी। वाघाोडिया क्षेत्र के राजीव गांधी स्विमिंग पुल मतदान केन्द्र पर मतदान शुरू होने के 15 मिनट पहले ही 15 वृद्ध मतदाता मतदान करने पहुंच गए।
जिला निर्वाचन अधिकारी व कलक्टर शालिनी अग्रवाल सवेरे रोजरी स्कूल मतदान केन्द्र पर निरीक्षण करने पहुंचीं। वहां एक स्वयंसेवक को व्हील चेयर पर नेत्रहीन महिला मतदाता चंदनबेन को लाते देखकर ठहरीं और उन्होंने महिला की इच्छाशक्ति की सराहना की।
बूथ संख्या 67 पर युवा मतदाता मिताली कहार बार-बार घड़ी देख रही थी। बाहर जाने के कारण पहले मतदान करने का निर्णयकर बूथ पर पहुंचने के बाद उन्होंने कहा कि देरी होने के बावजूद मतदान करके ही जाएंगी। मांजलपुर क्षेत्र की युवा मतदाता फिलहाल सीएम फेलोािश्प के सरकार के सूचना विभाग में 8 बजे ड्यूटी पर पहुंचने से पहले मतदान बूथ पर पहुंचकर मतदान कर गई।
उनके अलावा फतेगंज क्षेत्र स्थित रोजरी हाईस्कूल मतदान केन्द्र पर पत्नी मधुबेन व परिवार के सदस्यों की मदद से भरत सोमाजी ठाकोर भी मतदान करने पहुंचे। पिछले 20 वर्ष से आंखों की नसें सूखने के कारण वे नेत्रहीन की भांति जीवन जी रहे हैं। उनका कहना था कि नेत्रहीनता सरीखी शारीरिक समस्या भी मतदान के फर्ज में आड़ी नहीं आती, इसलिए वे हर चुनाव में मतदान करते हैं।
पंचांग रोजरी हाईस्कूल मतदान केन्द्र पर पिता सुभाष अग्रवाल के साथ पुत्र पार्थ अग्रवाल भी मतदान करने पहुंचा। दोनों ही दुर्घटनाओं में घायल हो गए थे, इसके बावजूद मतदान करने पहुंचे।

विकास कार्य और आर्थिक मदद की उम्मीद के साथ किया मतदान

शहर के आजवा क्षेत्र में तुलसीधाम सोसायटी निवासी व सेंट्रल एक्साइज विभाग से सेवानिवृत्त सुधाबेन (69) ने बचपन से पोलियोग्रस्त होने के बावजूद मकान से आधा किलोमीटर दूर स्थिात मतदान केन्द्र पर पहुंचकर मतदान किया। अविवााहित सुधाबेन का कहना था कि उनके क्षेत्र में विकास कार्य अधूरे हैं उन्हें पूरा कराने योग्य उम्मीदवार का चयन करने पहुंचीं हैं।
इसी प्रकाार फतेपुरा क्षेत्र से दोपहर में अकेली ही मतदान करने पहुंचीं धन्वंतरिबेन (55) का कहना था कि पति पिछले चार वर्ष से बीमारी के कारण बिस्तर पर हैं, पुत्र के पास कोई रोजगार नहीं है इस कारण आर्थिक स्थिति खराब है। उनके स्वयं के उपचार का खर्च भी है, इसके बावजूद कोई भी उनकी मदद नहीं करता। विपरीत परिस्थिति के कारण सरकार से आर्थिक मदद की आशा रखकर वे मतदान करने पहुंचीं हैं।

विवाह से पहले किया मतदान

शहर के तरसाली क्षेत्र में एक मतदान केन्द्र पर बारातियों के साथ पहुंचे दूल्हे ने आकर्षण जमाया। एक निजी कंपनी में कार्यरत दर्शन के विवाह की विधि सवेरे शुरू हुई। दोपहर में फेरे होने थे। इस बीच, शेरवानी, साफा, कलात्मक मोजडिय़ां, माला पहनकर वह मतदान करने पहुंचा और मतदान किया।
इसी प्रकार शहर के वारसिया क्षेत्र स्थित प्रमुखस्वामी सोसायटी निवासी विकीभाई का रविवार को विवाह था। समाज के रीति-रिवाज के अनुरूप गणपति स्थापना के बाद दूल्हा अपने घर से नहीं निकलता लेकिन, वह विवाह की पीठी से सजधजकर देश के प्रति जागरूक नागरिक का दायित्व निभाने के लिए मतदान करने पहुंचा।

कोविड पॉजिटिव दंपती ने किया मतदान

जिला निर्वाचन अधिकारी शालिनी अग्रवाल के अनुसार शहर के वार्ड 9 में सी.के. प्रजापति स्कूल मतदान केन्द्र पर कोविड पॉजिटिव दंपती ने कोविड गाइडलाइन का पालन करते हुए मतदान किया।

विधानसभा अध्यक्ष, सांसद ने भी किया मतदान

विधानसभा के अध्यक्ष राजेन्द्र त्रिवेदी ने शहर के बाजवाडा क्षेत्र में श्रेय साधक हॉल मतदान केन्द्र पर परिवार के सदस्यों के साथ मतदान किया। नर्मदा व शहरी विकास राज्यमंत्री योगेश पटेल ने भी मतदान किया। सांसद रंजनबेन भट्ट, विधायकों, शहर भाजपा अध्यक्ष डॉ. विजय शाह ने भी मतदान किया।
वार्ड 3 के समा क्षेत्र में नूतन विद्यालय मतदान बूथ के भीतर सांसद रंजनबेन भट्ट पहुंच गई। इस कारण कांग्रेस के बूथ एजेंटों ने हंगामा किया, इसके बाद सांसद वहां से रवाना हो गईं। इस दौरान पुलिस टीम को हस्तक्षेप करना पड़ा। बीएपीएस स्वामीनारायण संस्था के संतों ने अटलादरा क्षेत्र स्थित मंंदिर के समीप बालाजीपुरा प्राथमिक स्कूल मतदान केन्द्र पर मतदान किया।

पहचान पत्र के अभाव मेंं 40 किन्नरों को मतदान से रोका

शहर के बरानपुरा क्षेत्र में किन्नर समुदाय के करीब 250 मकानों में रहने वाले किन्नरों के नाम मतदाता सूची में होने के कारण वे समीप के मंजुलाबेन खुशालचंद स्कूल में मतदान करने पहुंचे। इनमें से 40 के पास मतदान पर्ची के अलावा कोई पहचान पत्र नहीं था। निर्वाचन अधिकारी ने पहचान पत्र मांगा लेकिन इसके अभाव में मतदान करने से रोक दिया गया। इनमें 3-4 तो 90 वर्ष से अधिक आयु के भी थे। उन्हें भी रोकने के कारण कई किन्नर मतदान किए बिना ही वहां से लौट गए। स्थानीय नेताओं उन्हें मनाया और पहचान पत्र के साथ पुन: मतदान केन्द्र पर ले जाने की व्यवस्था करने पर किन्नरों ने जाकर मतदान किया।

ईवीएम खराब होने पर ली तकनीकी स्टाफ की मदद
शहर के कुछ मतदान केन्द्रों पर कुल 15 ईवीएम मशीनें खराब होने के कारण तकनीकी स्टाफ की मदद लेकर चालू करवाने के बाद मतदान शुरू हुआ। कुछ केन्द्रों पर ईवीएम मशीनें देर से चालू होने के कारण 5-10 मिनट देर से मतदान शुरू हुआ।

कुछ केन्द्रों पर थर्मल गन की व्यवस्था, सोशल डिस्टेंसिंग नहीं,

शहर के कुछ केन्द्रों पर बुखार मापने के लिए थर्मल गन की व्यवस्था नहीं थी। कुछ मतदान केन्द्रों पर सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी नहीं हुआ।
ईवीएम का बटन खराब होने पर हंगामा

शहर के समा क्षेत्र में जीवन चेतना स्कूल में मतदान केन्द्र पर मध्याह्न 12 बजे बाद एक ईवीएम का 7 नंबर का बटन खराब होने के कारण कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने हंगामा किया। प्रत्याशी भी मौके पर पहुंचे और अधिकारियों के साथ कहासुनी भी हुई। इस दौरान कार्रवाई करने की मांग भी की गई।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned