रेती, पानी के 60 से अधिक टैंकरों से 11 घंटों में आग पर काबू

जामनगर-खंभाळिया राजमार्ग पर नाघेड़ी गांव के समीप कलर केमिकल के एक कारखाने में

By: rajesh bhatnagar

Published: 25 Apr 2018, 10:38 PM IST

जामनगर. जामनगर-खंभाळिया राजमार्ग पर नाघेड़ी गांव के समीप कलर केमिकल के एक कारखाने में मंगलवार दोपहर में लगी आग पर 11 घंटों की कड़़ी मशक्कत के बाद काबू पाया गया। आग बुझाने के लिए रेती के टैंकरों व पानी के 60 से अधिक टैंकरों का उपयोग किया गया।
सूत्रों के अनुसार जामनगर-खंभाळिया राजमार्ग पर नाघेड़ी गांव के समीप शेठ नामक महाजन के कलर केमिकल के प्लास्टिक के कारखाने में मंगलवार मध्याह्न करीब 12 बजे अचानक आग लग गई। आग देखते ही देखते पूरे कारखाने को आग की लपटों ने अपनी चपेट में ले लिया और धुएं के गुबार उठने लगे। सूत्रों के अनुसार इस कारण वहां मौजूद श्रमिकों में अफरा-तफरी मच गई। वहां कार्यरत श्रमिक दौड़कर बाहर निकल गए।
सूत्रों के अनुसार सूचना मिलने पर जामनगर महानगरपालिका से फायरब्रिगेड के तीन वाहन सहित 15 कर्मचारी तुरंत मौके पर पहुंचे। सूत्रों के अनुसार गंभीरता देख मुख्य अग्निशमन अधिकारी के.के. बिश्नोई की सूचना पर रिलायंस कंपनी, एस्सार कंपनी, जीएसएफसी, डीसीसी के फायर फाइटर सहित कुल कुल 12 वाहन मौके पर पहुंचे।
सूत्रों के अनुसार आग पर काबू में ना आने पर रेती के टैंकर भी मंगवाए गए। प्लास्टिक के दाने व अन्य सामान भी आग की चपेट में आने के कारण पानी के 60 से अधिक टैंकरों की मदद से 11 घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद देर रात 11 बजे आग पर काबू पाया गया।सूत्रों के अनुसार इसके बावजूद दमकलकर्मी बुधवार सवेरे तक मौके पर मौजूद रहे और सामान हटाकर उसके नीचे भभकते अंगारों को बुझाया। सूत्रों के अनुसार इन कंपनियों की फायरब्रिगेड सहित कुल 12 वाहनों की मदद से दमकल कर्मचारियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास किया लेकिन शाम सात बजे तक आग पर काबू नहीं पाया जा सका। सूत्रों के अनुसार कारखाने के समीप ही जेटको का एक बड़ा ट्रांसफार्मर व गैस की पाइप लाइन भी है लेकिन आग की लपटों को वहां तक पहुंचने रोकने के प्रयास किए गए।

rajesh bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned