आग काबू में आने तक धुएं के बीच पति के साथ नौवीं मंजिल पर ही डटी रही पत्नी

आग काबू में आने तक धुएं के बीच पति के साथ नौवीं मंजिल पर ही डटी रही पत्नी

nagendra singh rathore | Updated: 26 Jul 2019, 09:22:36 PM (IST) Ahmedabad, Ahmedabad, Gujarat, India

ऐसी परिस्थिति में बचाव के लिए होनी चाहिए हैलीकॉप्टर सेवा

 

अहमदाबाद. शहर के पास जगतपुर गांव में एक बहुमंजिला इमारत के ई-ब्लॉक की पांचवीं मंजिल के मकान में शुक्रवार दोपहर अचानक लगी आग के नौवीं मंजिल तक भी फैलने पर भी नौवीं मंजिल पर रहने वाला मुंजाणी परिवार वहां डटा रहा। बचाव के लिए फायरब्रिगेड, पुलिस कर्मचारी एवं स्थानीय लोगों की टीम वहां पहुंची तो बुजुर्ग माता-पिता को दंपत्ति ने वहां से पहले भेज दिया। लेकिन पत्नी विधि मुंजाणी अपने पति दर्शन मुंजाणी (३३) को छोड़कर नहीं गई।
दर्शन बताते हैं कि सात महीने पहले उनका एक्सीडेंट होने के चलते उन्हें 20 फैक्चर हो गए थे। जिसके चलते वे चलने में ज्यादा समर्थ नहीं हैं। दोपहर को अचानक उन्हें वायर जलने की बदबू आई। दरवाजा खोल कर देखा तो वहां से आग की लपटें और धुआं ही धुआं नजर आ रहा था। दरवाजा बंद करने पर खिड़की से धुआं आने लगा। उन्होंने कहा कि टेलीविजन पर सूरत की घटना और वीडियो में देखा था कि आग लगने पर बचाव के लिए क्या किया जाना चाहिए। इसके बाद सभी लोग बेडरूम में बड़ी खिड़की के पास पहुंच गए। घर के सभी रूमाल और तौलियों को भिगोने के बाद सभी ने चेहरा ढंका और सांस लेते रहे। थोड़ी देर बाद फायरब्रिगेड की बचाव टीम और अन्य लोग भी वहां पहुंचे। दर्शन बताते हैं कि उनके बुजुर्ग माता-पिता नरोत्तम और ज्योत्सनाबेन को बचाव दल के साथ भेज दिया। उन्हें छत पर ले जाकर बाद में नीचे उतारा गया।
चलने में असमर्थ होने के चलते दर्शन वहीं रुक गए क्योंकि आग उस समय बुझी नहीं थी। पत्नी विधि ने भी साथ छोड़कर जाने से मना किया तो वे अपनी पत्नी के साथ रुके। विधि का कहना था कि वे इस हालत में पति को नहीं छोड़ सकती थीं। इसलिए साथ रुकीं।

फायरकर्मियों की दिलेरी को सलाम

हार्डवेयर कंपनी में कार्यरत दर्शन ने कहा कि ऐसे में जब सांस लेना भी मुश्किल हो रहा था तब आग के बीच फायरकर्मी उनके पास मदद को पहुंचे। उन्होंने साथ जाने से मना कर दिया फिर भी फायरकर्मियों ने साथ नहीं छोड़ा। आग बुझने पर व्हील चेयर के साथ लेकर नीचे उतरे और इस तरह उन्हें बचाया। दर्शन का वजन 150 किलो है और उन्होंने कहा कि फायरकर्मियों की दिलेरी को सलाम है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned