देश में बनेगी फोरेंसिक परिषद : गृहमंत्री

२४वीं ऑल इंडिया फोरेंसिक साइंस कॉन्फ्रेंस में बोले गृहमंत्री

By: Nagendra rathor

Published: 10 Feb 2018, 11:29 PM IST

अहमदाबाद. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि गुजरात विश्वविद्यालय (जीयू) के कुलपति डॉ.हिमांशु पंड्या की ओर से दिया गया सीए काउंसिल, मेडिकल काउंसिल की तर्ज पर फोरेंसिक परिषद गठित करने का विचार काफी महत्वपूर्ण है। यह विचार उन्हें पसंद आया है।

२४वीं ऑल इंडिया फोरेंसिक साइंस कॉन्फ्रेंस के मौके पर वे इसके गठन की घोषणा करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि इस संदर्भ में आगे बढऩे के लिए कॉन्फ्रेंस में चर्चा हो।

सिंह शनिवार को गुजरात विश्वविद्यालय (जीयू) में आयोजित २४वीं अखिल भारतीय फोरेंसिक विज्ञान कॉन्फ्रेंस के उद्घाटन समारोह को संबोधित कर रहे थे।

'मॉर्फ पिक्चर से बरगलाए जा रहे हैं जम्मू-कश्मीर के युवा'
गृहमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में मॉर्फ पिक्चर दिखाकर युवाओं को बरगलाया जाता है। म्यांमार-फिलीपींस में घटी घटनाओं को गुजरात में घटी घटना के रूप में दर्शाकर सोशल मीडिया के जरिए भ्रम फैलाया जाता है। इससे माहौल बिगड़ता है। ऐसी घटनाओं पर रोक लगनी चाहिए, लेकिन ऐसा करने वालों पर प्रभावी कार्रवाई नहीं हो पाने के चलते यह रुक नहीं रहीं हैं, यह घटनाएं तभी रूकेंगी जब फोरेंसिक साइबर विशेषज्ञ प्रभावी भूमिका निभाएंगे। उन्होंने सोशल मीडिया के जरिए कट्टरपंथ को बढ़ावा दिए जाने पर भी चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि इसे रोकने के लिए फोरेंसिक साइबर एक्सपर्ट सराहनीय भूमिका निभा रहे हैं। आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, ब्लॉकचेन टेक्नोलॉजी, क्लाउड कंप्यूटिंग, ३डी प्रिंटिंग, रोबोटिक्स एंड इंटरनेट ने हमारे लिए सुरक्षा की नई चुनौती खड़ी की है। फोरेंसिक साइबर एक्सपर्टों को इन चुनौतियों को अवसर में बदलने की जरूरत है।

उन्होंने कहा कि देश की प्रत्येक फोरेसिंक साइंस लैबोरेटरी (एफएसएल) में स्टैण्डर्ड ऑपरेटिंग प्रोसिजर (एसओपी) एक समान करने की जरूरत है, ताकि लैब की फोरेसिंक जांच रिपोर्ट को अदात में दी जाने वाली चुनौती व उसके विरोधाभास को टाला जा सके। फोरेंसिक जांच के लिए नमूनों को लेने की प्रक्रिया को भी पारदर्शी बनाया जाए।

उन्होंने देशभर में फोरेंसिक साइंस विश्वविद्यालयों एवं फोरेसिंक साइंस पाठ्यक्रम चलाने वाले विश्वविद्यालयों के पाठ्यक्रमों में भी एकरूपता व समानता लाने जरूरत जताई।

 

Nagendra rathor Desk/Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned