Ahmedabad, Patan, Palanpur News : पूर्व राज्यमंत्री व पूर्व सांसद लीलाधर वाघेला का निधन

पिछले कुछ दिनों से बीमार थे

By: Rajesh Bhatnagar

Published: 16 Sep 2020, 11:55 PM IST

पाटण/पालनपुर. प्रदेश के पूर्व राज्यमंत्री, व पाटण के पूर्व सांसद लीलाधर वाघेला का बुधवार सवेरे निधन हो गया। वे 85 वर्ष के थे।
सूत्रों के अनुसार लीलाधर वाघेला पिछले कुछ दिनों से बीमार थे। उन्होंने बनासकांठा जिले के डीसा में अपने पुत्र के निवास स्थान पर बुधवार सवेरे अंतिम श्वास ली। पाटण जिले की चाणस्मा तहसील के पींपल गांव में 17 फरवरी 1935 को जन्मे लीलाधर ने बीए. बीएड तक अध्ययन किया।
किसान, सामाजिक कार्यकर्ता, पत्रकार के तौर पर अपने कार्य की शुरुआत करने वाले लीलाधर ने पालनपुर तहसील के रतनपुर गांव में स्थित लोक निकेतन विद्यालय में शिक्षक के तौर पर नौकरी की थी। वे जिला शिक्षा समिति के चेयरमैन भी रहे। उन्होंने पांच वर्षों तक शिक्षक की नौकरी की थी।
पूर्व में कांग्रेस से भी जुड़े रहे लीलाधर विधायक व चिमनभाई पटेल के मुख्यमंत्रित्वकाल में प्रदेश की सरकार में मंत्री रहे। लीलाधर ने वर्ष 2004 में शंकरसिंह वाघेला के विरुद्ध चुनाव लड़ा और चर्चा में आए। बाद में भाजपा में शामिल हुए। वर्ष 2014 में वे पाटण लोकसभा सीट से सांसद निर्वाचित हुए थे, उन्होंने भाजपा से कांग्रेस में शामिल हुए भावसिंह राठोड को 1 लाख 38 हजार 719 वोटों से पराजित किया था।
वे पांच बार विधायक के अलावा तीन बार प्रदेश के राज्यमंत्री, पाटण के सांसद रहे। वे बनासकांठा जिले की दियोदर व डीसा विधानसभा सीट से भी विधायक रहे। वे उत्तर गुजरात के एक कद्दावर राजनेता थे।गांधीनगर में उनके निवास के समीप वर्ष 2018 में एक गाय के हमले में वे गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे।

Rajesh Bhatnagar
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned