IIT Gandhinagar सामाजिक जागरुकता के पाठ से होगी आईआईटी गांधीनगर के विद्यार्थियों की शिक्षा की शुरूआत

पहले पांच सप्ताह नहीं लगेंगी कोर्स से जुड़ी कक्षाएं, 22 से २५ अगस्त तक फाउंडेशन प्रोग्राम

 

By: nagendra singh rathore

Published: 20 Jul 2019, 10:46 PM IST

अहमदाबाद. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान गांधीनगर में जुलाई-२०१९-२० के शैक्षणिक सत्र से बीटेक में प्रवेश पाने वाले प्रथम वर्ष के विद्यार्थियों की शिक्षा की शुरूआत सामाजिक जागरुकता व मूल्य निष्ठ शिक्षा के जरिए होगी। शुरूआती पांच सप्ताह इन विद्यार्थियों को कोर्स से जुड़ी कोई पढ़ाई नहीं कराकर उन्हें मूल्य एवं सिद्धांत, सृजनात्मकता, टीम वर्क, सामाजिक जागरूरकता, शारीरिक स्वस्थता से जुड़े पाठ पढ़ाए जाएंगे। आगामी २२ से २५ अगस्त तक इन विद्यार्थियों को अलग-अलग जगहों पर टूर के जरिए जुड़ी शिक्षा दी जाएगी।
इसके तहत विद्यार्थियों को महात्मा गांधी के सत्य, अहिंसा के सिद्धांत की जानकारी दिलाने के लिए साबरमती आश्रम का दौरा कराया जाएगा। ग्रामीण महिलाओं की आजीविका सुधारने में काम करने वाले गैर सरकारी संगठन सेवा के प्रतिनिधियों से भी मुलाकात कराई जाएगी। सांपों को लेकर लोगों में फैली भ्रांतियों को दूर करने के लिए अहमदाबाद के नेचर डिस्कवरी सेंटर का दौरा कराया जाएगा।
फाउंडेशन प्रोग्राम २०१९-२० की संयोजक प्रोफेसर अंबिका अईयादुराई ने कहा कि इस प्रोग्राम के जरिए विद्यार्थियों का समाज से जुड़ाव, मूल्य और सिद्धांतों से अवगत कराना है। उनकी सृजनात्मकता को पहचानने में उनकी मदद करना और तंदरुस्त रहने के प्रति जागरुक करना है।
संयोजक प्रोफेसर हिमांशु शेखर के अनुसार फाउंडेशन प्रोग्राम के जरिए विद्यार्थियों का सभी क्षेत्रों में विकास करना है।
प्रोफेसर उदित भाटिया ने कहा कि इस प्रोग्राम के जरिए विद्यार्थियों को उनके सहपाठियों और आईआईटी गांधीनगर की संस्कृति को समझने में आसानी होगी।

nagendra singh rathore
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned