आइआइएफएल ब्रांच में हुई लूट के मामले में चार आरोपी गिरफ्तार

आरोपियों से जब्त किया 2.52 करोड़ रुपए का सोना, 13.53 लाख रुपये नकद व दो कार, वर्ष 2017 में चिखली ब्रांच में हुई दो करोड़ रुपए से ज्यादा के गोल्ड की लूट का भी पर्दाफाश

By: Gyan Prakash Sharma

Published: 20 Nov 2020, 06:52 PM IST

भरुच. आइआइएफएल अंकलेश्वर ब्रांच में हुई 3.29 करोड़ रुपए की लूट के मामले में पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। पुलिस ने चार आरोपियों को गिरतार कर लुटेरों के पास से लूट में इस्तेमाल दो कार, हथियार, नकदी और सोना मिलाकर कुल 2.7 करोड़ रुपए का सामान जब्त किया है। आरोपियों की गिरतारी के साथ ही 2017 में नवसारी जिले के चिखली स्थित आइआइएफएल की शाखा में हुई दो करोड़ से ज्यादा की लूट का भी पर्दाफाश किया है।


दीपावली के पांच दिन पहले ९ नवंबर को अंकलेश्वर तीन रास्ता पर आशीष शॉपिंग सेंटर स्थित आइआइएफएल गोल्ड लोन फाइनेंस के ऑफिस से चार लुटेरों ने 3.32 करोड़ रुपए के माल पर हाथ साफ किया था। जिले में लूट की इतनी बड़ी वारदात पहली बार होने से पुलिस ने पूरी ताकत झोंक दी थी। पुलिस ने घटना के 12 घंटे के भीतर ही अपराध में इस्तेमाल सफेद कार की पहचान कर ली थी।
जांच में मिले क्लू के सहारे पुलिस ने सूरत के रांदेर इलाके से लूट के चार आरोपियों को गिरतार कर लिया। पकड़े लोगों में मोहसिन इतियाज गुलाम मुस्तुफा मलेक, मोहमद अली हुसैन गुलाम नाखुदा, मोहसीन मुस्तुफा जिलानी खलीफा और सलीम अब्दुल सिद्दीक खान शामिल हैं। इनके पास से पुलिस ने 2.52 करोड़ का 5863.69 ग्राम सोना, नकद 13.53 लाख रुपया व दो कार समेत हथियार व मोबाइल जब्त किए।


वलसाड़ में थी लूट की योजना


2017 में नवसारी जिले के चिखली स्थित आइआइएफएल ब्रांच में लूट के बाद पकड़े नहीं जाने से मोहसिन और उसके गिरोह के हौसले बुलंद थे। नौ नवंबर को अंकलेश्वर स्थित ब्रांच में लूट की वारदात के बाद उनकी योजना वलसाड ब्रांच को निशाने पर लेने की थी। अंकलेश्वर में सीसीटीवी कैमरा रोड पर नहीं लगा होने से लुटेरों ने इसे निशाने पर लिया था।


इस तरह से बनाया गिरोह


2011 में साउथ जोन वापी में आइआइएफएल गोल्ड लोन में मोहसिन इतियाज गुलाम मुस्तुफा मलेक रिकवरी मैनेजर था। वह गोल्ड लोन देने की बैंक की पूरी कार्यप्रणाली से अवगत था। प्रोहिबिशन व मोबाइल चोरी के मामले में गिरतार सलीम खान के साथ मिलकर मोहसिन ने लूट का प्लान तैयार किया था। उन्होंने मोहसिन खलीफा व मोहमद अली नाखूदा को गैंग में शामिल कर लिया था।


मौज मस्ती में उड़ा दिए 18 लाख


पुलिस अधीक्षक राजेंद्रसिंह चूड़ास्मा ने कहा कि अंकलेश्वर ब्रांच में लूट के बाद गिरोह के लोगों ने सात सौ ग्राम (7 तोला) सोना तीस लाख रुपए में बेच दिया था। सभी आरोपी मौज-मस्ती करने के लिए महाबलेश्वर चले गए थे। वहां 18 लाख रुपये खर्च कर दिए थे।
--------------------------

Gyan Prakash Sharma Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned